जाने सावन में हरी चूड़ियां क्यों पहनती हैं महिलाएं

जाने सावन में हरी चूड़ियां क्यों पहनती हैं महिलाएं
जाने सावन में हरी चूड़ियां क्यों पहनती हैं महिलाएं

लखनऊ। सावन में हरा रंग पहनकर न सिर्फ हम प्रकृति के प्रति अपना आभार व्यक्त करते हैं बल्कि यह रंग हमारे भाग्य को भी काफी प्रभावित करता है। आपने देखा होगा ज़्यादातर महिलाएं सावन के महीने में हरे रंग की चूड़ियाँ पहनती हैं लेकिन क्या आप जानते हैं कि सावन में हरा रंग क्यों इतना महत्त्वपूर्ण है। आज हम आपको बताएंगे कि इस खास महीने लड़कियां क्यों पहनती हैं हरे रंग की चुड़ियां?

Benefits Of Wearing Green Bangles In Sawan 2 :

शादीशुदा जीवन में खुशहाली

जिस तरह लाल रंग हर शादीशुदा महिला के जीवन में खुशियां और सौभाग्य का प्रतीक होता है ठीक उसी तरह हरा रंग भी उनके जीवन में काफी महत्वपूर्ण होता है। सावन के महीने में औरतें हरी चूड़ियां इसलिए पहनती हैं ताकि उन्हें शिव जी का आशीर्वाद मिले और उनके पति की लंबी आयु हो।

करियर के लिए हरा रंग

बुध ग्रह किसी भी व्यक्ति के करियर और व्यवसाय से जुड़ा होता है। बुध को हरा रंग बहुत ही प्रिय है इसलिए इस रंग को धारण करने से मनुष्य को उसके कार्यक्षेत्र में सफलता हासिल होती है।

सौभाग्य के लिए

भगवान शिव एक योगी थे और उन्हें प्रकृति की सुंदरता के बीच ध्यान में बैठना बहुत ही पसंद था। हरा रंग पहनने से भी महादेव प्रसन्न होते हैं इसलिए महिलाएं सावन के महीने में सिर्फ एक नहीं बल्कि कई कारणों से हरा रंग पहनती हैं।

प्रकृति के प्रति आभार व्यक्त करने के लिए

पुराणों के अनुसार हम प्रकृति की पूजा कई रूपों में करते हैं। तुलसी, पीपल, केले आदि के पेड़ हिंदू धर्म में पूजनीय माने जाते हैं। इससे भी हम प्रकृति के प्रति अपना आभार व्यक्त करते हैं। ऐसी मान्यता है कि जो भी यह रंग धारण करता है उससे प्रकृति का आशीर्वाद मिलता है।

लखनऊ। सावन में हरा रंग पहनकर न सिर्फ हम प्रकृति के प्रति अपना आभार व्यक्त करते हैं बल्कि यह रंग हमारे भाग्य को भी काफी प्रभावित करता है। आपने देखा होगा ज़्यादातर महिलाएं सावन के महीने में हरे रंग की चूड़ियाँ पहनती हैं लेकिन क्या आप जानते हैं कि सावन में हरा रंग क्यों इतना महत्त्वपूर्ण है। आज हम आपको बताएंगे कि इस खास महीने लड़कियां क्यों पहनती हैं हरे रंग की चुड़ियां? शादीशुदा जीवन में खुशहाली- जिस तरह लाल रंग हर शादीशुदा महिला के जीवन में खुशियां और सौभाग्य का प्रतीक होता है ठीक उसी तरह हरा रंग भी उनके जीवन में काफी महत्वपूर्ण होता है। सावन के महीने में औरतें हरी चूड़ियां इसलिए पहनती हैं ताकि उन्हें शिव जी का आशीर्वाद मिले और उनके पति की लंबी आयु हो। करियर के लिए हरा रंग- बुध ग्रह किसी भी व्यक्ति के करियर और व्यवसाय से जुड़ा होता है। बुध को हरा रंग बहुत ही प्रिय है इसलिए इस रंग को धारण करने से मनुष्य को उसके कार्यक्षेत्र में सफलता हासिल होती है। सौभाग्य के लिए- भगवान शिव एक योगी थे और उन्हें प्रकृति की सुंदरता के बीच ध्यान में बैठना बहुत ही पसंद था। हरा रंग पहनने से भी महादेव प्रसन्न होते हैं इसलिए महिलाएं सावन के महीने में सिर्फ एक नहीं बल्कि कई कारणों से हरा रंग पहनती हैं। प्रकृति के प्रति आभार व्यक्त करने के लिए- पुराणों के अनुसार हम प्रकृति की पूजा कई रूपों में करते हैं। तुलसी, पीपल, केले आदि के पेड़ हिंदू धर्म में पूजनीय माने जाते हैं। इससे भी हम प्रकृति के प्रति अपना आभार व्यक्त करते हैं। ऐसी मान्यता है कि जो भी यह रंग धारण करता है उससे प्रकृति का आशीर्वाद मिलता है।