बंगाल BJP अध्यक्ष बोले- 50 लाख मुस्लिम घुसपैठियों को देश से बाहर निकाल फेकेंगे

dileep ghosh
बंगाल BJP अध्यक्ष बोले- 50 लाख मुस्लिम घुसपैठियों को देश से बाहर निकाल फेकेंगे

नई दिल्ली। नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) पर जारी भ्रम को दूर करने के लिए मोदी सरकार हर मुमकिन कोशिश कर रही है, वही दूसरी तरफ बीजेपी के नेता अपने बयानों से सरकार की किरकिरी कराने में लगे हैं। सीएए के समर्थन में पहले भी विवादित बयान दे चुके पश्चिम बंगाल में बीजेपी अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा है कि राज्य में 50 लाख मुस्लिम घुसपैठियों की पहचान की जाएगी। अगर जरूरत पड़ी तो उन्हें देश से बाहर कर दिया जाएगा।

Bengal Bjp President Said 50 Lakh Muslim Intruders Will Be Thrown Out Of The Country :

उत्तर 24 परगना जिले में एक रैली को संबोधित करते हुए घोष ने कहा, ‘सीएए का विरोध कर रहे लोग गैर बंगाली हैं और वे भारत के आइडिया के खिलाफ हैं। पश्चिम बंगाल में एक करोड़ अवैध मुस्लिम यहां सरकार द्वारा मुहैया कराए जा रहे 2 रुपये प्रति किलो की सब्सिडी वाले चावल पर फल-फूल रहे हैं। हम उन्हें वापस भेजेंगे।’

CAA के सपॉर्ट पर सांप्रदायिक भी घोषित करें, तो पछतावा नहीं

घोष ने कहा, ‘यही अवैध बांगलादेशी मुसलमान राज्य में हुए उपद्रव में शामिल रहे हैं। धार्मिक आधार पर उत्पीड़न का शिकार होकर अपनी जान बचाकर भागने वाले हिंदू रिफ्यूजियों को समर्थन देने के लिए अगर मुझे सांप्रदायिक भी घोषित किया जाता है, तो मुझे किसी तरह का पछतावा नहीं है।’

भारत के आइडिया के खिलाफ हैं CAA का विरोध कर रहे लोग

उन्होंने कहा, ‘जो भी लोग सीएए का विरोध कर रहे हैं, वे या तो भारत विरोधी हैं या फिर बंगाली विरोधी हैं। वे असल में भारत के आइडिया के खिलाफ हैं और इसी वजह से हिंदू शरणार्थियों को नागरिकता देने का विरोध कर रहे हैं। जो प्रसिद्ध हस्तियां एनआरसी और सीएए का विरोध कर रहे हैं, उनका दिल घुसपैठियों के लिए धड़कता है। हिंदू शरणार्थियों का क्या होगा? इसका कोई भी जवाब उनके पास नहीं है। यह दोहरा रवैया है।’

पब्लिक प्रॉपर्टी को नुकसान पहुंचाने वालों को गोली मारेंगे

उन्होंने कहा, ‘ममता बनर्जी की सरकार के कार्यकाल में 500 करोड़ की कीमत के पब्लिक प्रॉपर्टी को नुकसान पहुंचाने वाले बच निकलते हैं। बीजेपी की सरकार आई तो ऐसे सभी लोगों की पहचान कर उन्हें गोली मार दी जाएगी। किसी को भी बख्शा नहीं जाएगा।’

नई दिल्ली। नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) पर जारी भ्रम को दूर करने के लिए मोदी सरकार हर मुमकिन कोशिश कर रही है, वही दूसरी तरफ बीजेपी के नेता अपने बयानों से सरकार की किरकिरी कराने में लगे हैं। सीएए के समर्थन में पहले भी विवादित बयान दे चुके पश्चिम बंगाल में बीजेपी अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा है कि राज्य में 50 लाख मुस्लिम घुसपैठियों की पहचान की जाएगी। अगर जरूरत पड़ी तो उन्हें देश से बाहर कर दिया जाएगा। उत्तर 24 परगना जिले में एक रैली को संबोधित करते हुए घोष ने कहा, 'सीएए का विरोध कर रहे लोग गैर बंगाली हैं और वे भारत के आइडिया के खिलाफ हैं। पश्चिम बंगाल में एक करोड़ अवैध मुस्लिम यहां सरकार द्वारा मुहैया कराए जा रहे 2 रुपये प्रति किलो की सब्सिडी वाले चावल पर फल-फूल रहे हैं। हम उन्हें वापस भेजेंगे।' CAA के सपॉर्ट पर सांप्रदायिक भी घोषित करें, तो पछतावा नहीं घोष ने कहा, 'यही अवैध बांगलादेशी मुसलमान राज्य में हुए उपद्रव में शामिल रहे हैं। धार्मिक आधार पर उत्पीड़न का शिकार होकर अपनी जान बचाकर भागने वाले हिंदू रिफ्यूजियों को समर्थन देने के लिए अगर मुझे सांप्रदायिक भी घोषित किया जाता है, तो मुझे किसी तरह का पछतावा नहीं है।' भारत के आइडिया के खिलाफ हैं CAA का विरोध कर रहे लोग उन्होंने कहा, 'जो भी लोग सीएए का विरोध कर रहे हैं, वे या तो भारत विरोधी हैं या फिर बंगाली विरोधी हैं। वे असल में भारत के आइडिया के खिलाफ हैं और इसी वजह से हिंदू शरणार्थियों को नागरिकता देने का विरोध कर रहे हैं। जो प्रसिद्ध हस्तियां एनआरसी और सीएए का विरोध कर रहे हैं, उनका दिल घुसपैठियों के लिए धड़कता है। हिंदू शरणार्थियों का क्या होगा? इसका कोई भी जवाब उनके पास नहीं है। यह दोहरा रवैया है।' पब्लिक प्रॉपर्टी को नुकसान पहुंचाने वालों को गोली मारेंगे उन्होंने कहा, 'ममता बनर्जी की सरकार के कार्यकाल में 500 करोड़ की कीमत के पब्लिक प्रॉपर्टी को नुकसान पहुंचाने वाले बच निकलते हैं। बीजेपी की सरकार आई तो ऐसे सभी लोगों की पहचान कर उन्हें गोली मार दी जाएगी। किसी को भी बख्शा नहीं जाएगा।'