1. हिन्दी समाचार
  2. बॉलीवुड
  3. Besharam Rang Controversy: बेशर्म रंग पर मुकेश खन्ना ने जताया विरोध, कहा- कुछ समय बाद बिना कपड़ों के…

Besharam Rang Controversy: बेशर्म रंग पर मुकेश खन्ना ने जताया विरोध, कहा- कुछ समय बाद बिना कपड़ों के…

 बॉलीवुड इंडस्ट्री में अधिकतर फिल्मों के रिलीज से पहले बायकॉट की बात होने लगती है। आम से लेकर खास तक फिल्म की किसी ना किसी बात से आहत हो जाते हैं और फिल्म के बहिष्कार की बात होती है।

By आराधना शर्मा 
Updated Date

Besharam Rang Controversy: बॉलीवुड इंडस्ट्री में अधिकतर फिल्मों के रिलीज से पहले बायकॉट की बात होने लगती है। आम से लेकर खास तक फिल्म की किसी ना किसी बात से आहत हो जाते हैं और फिल्म के बहिष्कार की बात होती है।

पढ़ें :- Jackie Shroff Birthday special: इस एक्ट्रेस के लिए धड़कता था जग्गू दादा का दिल, ऐसे हुई थी पहली मुलाकात

इन दिनों शाहरुख खान (Shah Rukh Khan) और दीपिका पादुकोण (Deepika Padukone) की फिल्म ‘पठान’ (Pathaan) विवाद के चलते सुर्खियों में बनी हुई है।

दरअसल, फिल्म ‘पठान’ का पहला गाना ‘बेशर्म रंग’ (Besharam Rang) रिलीज हुई और दीपिका पादुकोण की बिकिनी के कलर पर विवाद छिड़ गया है। अब इस विवाद पर वेटरन एक्टर मुकेश खन्ना (Mukesh Khanna) अपनी प्रतिक्रिया दी है। आइए जानते हैं कि मुकेश खन्ना ने क्या कहा है।

मुकेश खन्ना ने जताया विरोध 

मुकेश खन्ना ने इंटरव्यू में बोलीं कई बातें फिल्म ‘पठान’ के गाने ‘बेशर्म रंग’ (Besharam Rang) पर मुकेश खन्ना ने ‘एबीपी’ को दिए गए इंटरव्यू में कहा, ‘आजकल के बच्चे टीवी और फिल्में देखकर बड़े हो रहे हैं इसलिए सेंसर बोर्ड को ऐसे गानों को पास नहीं करना चाहिए।

पढ़ें :- Wedding Bell: शादी के बंधन में जल्द बंधने वालें हैं वरुण तेज, भाई ने लगाई खबरों पर मोहर

सेंसर बोर्ड कोई सुप्रीम कोर्ट (Supreme court) नहीं है जिसका विरोध नहीं किया जाना चाहिए। बेशर्म रंग (Besharam Rang) गाने को अश्लील बताया है। हमारा देश कोई स्पेन नहीं बन गया, जो इस तरह के गाने लाए जाए। अभी आधे कपड़ों में गाने बन रहे हैं। कुछ समय बाद बिना कपड़ों के गाने बनने लगेंगे। समझ नहीं आता है कि सेंसर बोर्ड ऐसे गानों को पास क्यों करता है।’

भगवा रंग एक धर्म के लिए बहुत मायने रखता 

मुकेश खन्ना ने आगे कहा, ‘गाने बनाने वालों को ये बात नहीं पता है कि भगवा रंग एक धर्म के लिए बहुत मायने रखता है। बहुत संवेदनशील है, जिसे हम भगवा कहते हैं जो शिवसेना के झंडे में भी है, हमारे आरएसएस में भी हैं। अगर उनको ये पता है, तो बनाने वाला क्या सोच कर बनाता है। अमेरिका में आप उनके झंडे की बिकिनी भी पहन सकते हैं। पर भारत में ऐसा करने की इजाजत नहीं है।’

 

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...