बेटियों का गला घोंट ट्रेन से कटकर दी जान, पारिवारिक कलह के चलते घटना हुई

अम्बेडकरनगर। उत्तर प्रदेश के फैजाबाद जनपद निवासी एक व्यक्ति ने अपनी दो मासूम बेटियों का गला घोंटकर खुद भी ट्रेन के आगे कूद कर आत्महत्या कर ली हालांकि बड़ी पुत्री बच गयी है। घटना महरुआ थाना क्षेत्र की है, फैजाबाद जनपद के तारुन थाना क्षेत्र निवासी राम भवन पाल वैवाहिक कार्यक्रम में भाग लेने अपनी ससुराल आया था और इस लोमहर्षक घटना को अंजाम दे डाला। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि पारिवारिक कलह के चलते त्रिभुवन ने ऐसी घटना को अंजाम दिया।



राम भवन पाल पुत्र बलरामपाल (28) निवासी मनका पुरवा थाना तारुन फैजाबाद अपनी ससुराल इटकोहिया माधवपुर थाना जयसिंहपुर जिला सुलतानपुर सपरिवार शादी में आया था, शादी 21 मई को थी, 22 मई को बारात वापस आयी और 23 मई को बहूभोज था। उसी दिन शाम को लगभग छ: बजे रामभवन अपनी दो पुत्रियों को लेकर महरुआ टहलने के बहाने लेकर आया।

उसके बाद वह उन्हें खड़हरा मोड़ के पास ले गया, जहां तीन वर्षीय पुत्री अंशी की हत्या कर शव सड़क के किनारे झाड़ी में फेंक दिया और पांच वर्षीय पुत्री अन्नू को गला घोंटकर मरा जानकर उसे भी फेंक दिया, वहां से गाड़ी लेकर अकबरपुर स्टेशन गया और अपने भाई को फोन पर कहा कि मोटर साइकिल स्टेशन से उठा लेना। लगभग दस बजे रात्रि में सियालदा एक्सप्रेस ट्रेन के नीचे कूद कर उसने आत्महत्या कर ली।