1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. Bhagirathi Amma का 105 की उम्र में निधन, जानें इनके नाम क्या था अनोखा रिकॉर्ड

Bhagirathi Amma का 105 की उम्र में निधन, जानें इनके नाम क्या था अनोखा रिकॉर्ड

जीवन में प्रगति, विकास और कुछ कर गुजरने चाहत रखने वाले लिए पहली शर्त यही होती है, कि हमारे भीतर का छात्र हमेशा जीवित रहना चाहिए। इस बात को केरल (Kerala) के कोल्लम जिले की प्रक्कुलम की निवासी भागीरथी अम्मा (Bhagirathi Amma)  ने 105 वर्ष की आयु में चौथी कक्षा पास कर सच साबित किया था, लेकिन शुक्रवार 23 जुलाई को 107 वर्ष की आयु में भारतीय नारी शक्ति पुरस्कार विजेता (Indian Nari Shakti Puraskar Winner)  भागीरथी अम्मा का निधन हो गया है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

नई दिल्ली। जीवन में प्रगति, विकास और कुछ कर गुजरने चाहत रखने वाले लिए पहली शर्त यही होती है, कि हमारे भीतर का छात्र हमेशा जीवित रहना चाहिए। इस बात को केरल (Kerala) के कोल्लम जिले की प्रक्कुलम की निवासी भागीरथी अम्मा (Bhagirathi Amma)  ने 105 वर्ष की आयु में चौथी कक्षा पास कर सच साबित किया था, लेकिन शुक्रवार 23 जुलाई को 107 वर्ष की आयु में भारतीय नारी शक्ति पुरस्कार विजेता (Indian Nari Shakti Puraskar Winner)  भागीरथी अम्मा का निधन हो गया है।

पढ़ें :- Supreme Court ने दिया NIC को आदेश, कहा- हमारी मेल से हटाएं PM मोदी की फोटो और...
Jai Ho India App Panchang

बता दें कि भागीरथी अम्मा का मन की बात के 62वां संस्करण में देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) भी जिक्र कर चुके थे। भागीरथी अम्मा ने 105 वर्ष की आयु में चौथी कक्षा की परीक्षा उत्तीर्ण कर सबसे अधिक उम्र की स्‍टूडेंट होने का अनोखा रिकॉर्ड (Unique Record ) बनाया था। भागीरथी अम्मा की उपलब्धि पर केरल साक्षरता मिशन (Kerala Literacy Mission)  के निदेशक पीएस श्रीकला ने उनके बारे में कहा था। उन्होंने कहा था कि भागीरथी अम्मा केरल साक्षरता मिशन के अब तक के इतिहास में सबसे बुजुर्ग ‘समकक्ष शिक्षा हासिल करने वाली’ व्यक्ति बन गई हैं।

बता दें कि भागीरथी अम्मा ने साक्षरता मिशन (Literacy Mission) द्वारा आयोजित परीक्षा में 74.4 फीसदी नंबरों के साथ सफलता हासिल की थी, जिसमें उन्‍होंने गणित में पूरे 100 फीसदी नंबर स्‍कोर किए थे। वह अपनी सातवीं कक्षा की समकक्ष परीक्षा में शामिल होने की तैयारी कर रही थी। लेकिन उनका यह सपना नहीं पूरा हो सका।

केरल निवासी भागीरथी अम्मा बचपन से पढ़ाई का शौक रखती थीं, लेकिन कम उम्र में मां के गुजर जाने के बाद भाई-बहनों की देखरेख की जिम्‍मेदारी उनके कंधों पर आ गई थी। इसके अलावा 30 वर्ष की आयु में पति के गुजरने के बाद पढ़ाई का विचार और मुश्किल हो गया, लेकिन इसके बाद भी उन्होंने हार नहीं मानी और 105 वर्ष की आयु में चौथी क्‍लास पास कर रिकॉर्ड बना दिया। भागीरथी अम्मा कई बीमारियों से जूझ रही थीं। उन्होंने अपने आवास पर रात 1.55 बजे अंतिम सांस ली।

पढ़ें :- UP को नंबर एक योगी आदित्यनाथ ने बनाया, चमक, दमक नहीं बल्कि विकास को दी प्राथमिकता : धर्मेंद्र प्रधान
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...