13 प्वाइंट रोस्टर के विरोध में भारत बंद, प्रयागराज में सपाईयों ने रोंकी ट्रेन

bharat bandh
13 प्वाइंट रोस्टर के विरोध में भारत बंद, प्रयागराज में सपाईयों ने रोंकी ट्रेन

नई दिल्ली। 13 प्वाइंट रोस्टर को लेकर किए गए फैसले के विरोध में मंगलवार को देश की तमाम पार्टियों ने भारत बंद का आह्वाहन किया है। बता दे कि इलाहाबाद हाईकोर्ट ने विश्वविद्यालयों में नियुक्ति के लिए विश्वविद्यालय के बदले विभाग को मानक मानने का फैसला किया। जिसके बाद सरकार ने इस फैसले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दीं। हालाकि उच्चतम न्यायालय ने इस मामले में कोई भी टिप्पणी करने से साफ इंकार कर दिया।

Bharat Bandh Against 200 Points Roster Opposition Is Supporting Dalit Adivasis :

कोर्ट के फैसले के बाद विपक्ष के साथ ही सहयोगी दलों लोजपा, आरपीआई और अपना दल ने इस मामले में पीएम से हस्तक्षेप की मांग की। उनकी मांग हैं कि पुराना 200 प्वाइंट रजिस्टर लागू करने के लिए कानून लाया जाए। इस मामले में राष्ट्रीय जनता दल के नेता तेजस्वी यादव ने कहा, ‘जो आरक्षण को हाथ लगाएगा, वो जिंदा जल जाएगा। दलित-पिछड़ों की पुरजोर पुकार। 90 प्रतिशत आरक्षण हमारा अधिकार।

वहीं इस भारत बंद को लेकर मानव संसधान विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा, ‘हमारे पास 200 प्वाइंट रोस्टर की एक प्रणाली है जहां विश्वविद्यालय को एक इकाई माना जाता है लेकिन अदालत ने इसके खिलाफ फैसला दिया है और सभी को विभागीय रोस्टर के लिए निर्देश दिए हैं। उन्होने कहा कि हम इसके लिए कभी भी सहमत नहीं थे। जब इसमें एक समीक्षा याचिका डाली गई तो उसे खारिज कर दिया गया।

बता दें कि इस भारत बंद का असल दिखना भी शुरु हो गया है। मंगलवार को उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने प्रयागराज से लखनऊ जाने वाली गंगा गोमती एक्सप्रेस ट्रेन को रोक दिया। जिससे प्रयागराज से लखनऊ आने वाले कामकाजी लोग काफी परेशान हैं।

नई दिल्ली। 13 प्वाइंट रोस्टर को लेकर किए गए फैसले के विरोध में मंगलवार को देश की तमाम पार्टियों ने भारत बंद का आह्वाहन किया है। बता दे कि इलाहाबाद हाईकोर्ट ने विश्वविद्यालयों में नियुक्ति के लिए विश्वविद्यालय के बदले विभाग को मानक मानने का फैसला किया। जिसके बाद सरकार ने इस फैसले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दीं। हालाकि उच्चतम न्यायालय ने इस मामले में कोई भी टिप्पणी करने से साफ इंकार कर दिया।

कोर्ट के फैसले के बाद विपक्ष के साथ ही सहयोगी दलों लोजपा, आरपीआई और अपना दल ने इस मामले में पीएम से हस्तक्षेप की मांग की। उनकी मांग हैं कि पुराना 200 प्वाइंट रजिस्टर लागू करने के लिए कानून लाया जाए। इस मामले में राष्ट्रीय जनता दल के नेता तेजस्वी यादव ने कहा, 'जो आरक्षण को हाथ लगाएगा, वो जिंदा जल जाएगा। दलित-पिछड़ों की पुरजोर पुकार। 90 प्रतिशत आरक्षण हमारा अधिकार।

वहीं इस भारत बंद को लेकर मानव संसधान विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा, 'हमारे पास 200 प्वाइंट रोस्टर की एक प्रणाली है जहां विश्वविद्यालय को एक इकाई माना जाता है लेकिन अदालत ने इसके खिलाफ फैसला दिया है और सभी को विभागीय रोस्टर के लिए निर्देश दिए हैं। उन्होने कहा कि हम इसके लिए कभी भी सहमत नहीं थे। जब इसमें एक समीक्षा याचिका डाली गई तो उसे खारिज कर दिया गया।

बता दें कि इस भारत बंद का असल दिखना भी शुरु हो गया है। मंगलवार को उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने प्रयागराज से लखनऊ जाने वाली गंगा गोमती एक्सप्रेस ट्रेन को रोक दिया। जिससे प्रयागराज से लखनऊ आने वाले कामकाजी लोग काफी परेशान हैं।