SC/ST एक्ट के खिलाफ बंद के दौरान खूनी हिंसा में तीन की मौत

SC/ST एक्ट , खूनी हिंसा
SC/ST एक्ट के खिलाफ बंद के दौरान खूनी हिंसा में तीन की मौत

नई दिल्ली। SC/ST एक्ट में बदलाव पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ भारत बंद के दौरान प्रदेश के ग्वालियर, भिंड और मुरैना शहरों में हिंसा खूनी होती जा रही है। ग्वालियर में थाटीपुर इलाके में दो युवकों की मौत हो गई है। मुरैना में हिंसक झड़पों में एक युवक की मौत हो गई है। पुलिस और एससी-एसटी समुदाय के लोगों के बीच हुई फायरिंग के दौरान युवक को गोली लगी। जबकि भिंड में पुलिस फायरिंग में एक युवक की मौके पर ही मौत हो गई है। युवक का नाम 32 वर्षीय महावीर राजावत बताया जा रहा है। ग्वालियर में हिंसा को देखते हुए छह थाना क्षेत्रों में कर्फ्यू लगा दिया गया है। ग्वालियर में बीएसएफ और एसएएफ को मोर्चे पर तैनात किया गया है।

एससी, एसटी अधिनियम का दुरुपयोग रोकने के लिए हाल ही में सर्वोच्च न्यायालय के फैसले के विरोध में विभिन्न संगठनों ने एक दिवसीय भारत बंद का आह्वान किया था जिसका मध्य प्रदेश में भी व्यापक असर नजर आ रहा है। ग्वालियर, भिंड आदि स्थानों में आंदोलन हिंसक हो गया, जहां दो वर्ग आमने-सामने आ गए और पथराव के बीच वाहनों को आग के हवाले कर दिया गया। बंद के दौरान हिंसा में कई लोग जख्मी हुए, जिनमें सुरक्षा जवान भी शामिल हैं।

{ यह भी पढ़ें:- हिंदू पाकिस्तान वाले बयान में फंसे शशि थरूर, कोर्ट ने भेजा नोटिस }

चंबल क्षेत्र के पुलिस महानिरीक्षक (आईजी, चंबल) संतोष सिंह ने बताया, “मुरैना शहर और भिंड के पांच कस्बों में कर्फ्यू लगाया गया है। पुलिस बल हालात पर नजर रखे हुए हैं। एक व्यक्ति की गोली लगने से हुई मौत की अभी आधिकारिक पुष्टि नहीं की जा सकती लेकिन व्यक्ति की मौत की सूचना मिली है।”पुलिस नियंत्रण कक्ष से मिली जानकारी के अनुसार, ग्वालियर में हिंसक घटनाएं हुई हैं। दो वगरें के बीच हुए संघर्ष ने हिंसक रूप धारण कर लिया जिसके बाद यहां के तीन थाना क्षेत्रों थाटीपुर, गोला का मंदिर, मुरार में कर्फ्यू लगाया गया है। इन इलाकों में बड़ी संख्या में वाहनों में तोड़फोड़ और आगजनी हुई है।

इसी तरह भिंड से भी आंदोलन के हिंसक होने की सूचना मिली है। वहीं दूसरी ओर राज्य की राजधानी भोपाल के बोर्ड ऑफिस चौराहे पर बड़ी संख्या में आंदोलनकारीइकठ्ठा हैं। पुलिस उन्हें हटाने में नाकाम दिखाई दे रही है। सागर में प्रदर्शनकारियों को तितर बितर करने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज का प्रयोग किया। इसके अलावा ट्रेनों को जगह-जगह रोका जा रहा है।

{ यह भी पढ़ें:- आंध्र प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री किरण कुमार रेड्डी की कांग्रेस में वापसी }

क्या है सुप्रीम कोर्ट फैसला

एससी-एसटी एक्ट में बदलाव पर सुप्रीम कोर्ट ने अहम फैसला सुनाया था। फैसले में कहा गया था कि :-

आरोपों पर तुरंत गिरफ्तारी नहीं की जाएगी।
पहले आरोपों की जांच जरूरी।
जांच करने के बाद ही केस दर्ज होगा।

DSP स्तर के अधिकारी करेंगे आरोपों की जांच।
गिरफ्तारी से पहले जमानत संभव।
अग्रिम जमानत भी मिल सकेगी।
सीनियर अफसर की इजाज़त के बाद ही सरकारी अधिकारियों की गिरफ्तारी होगी।

{ यह भी पढ़ें:- समलैंगिक संबंध अपराध है या नही, केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट पर छोड़ा फैसला }

नई दिल्ली। SC/ST एक्ट में बदलाव पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ भारत बंद के दौरान प्रदेश के ग्वालियर, भिंड और मुरैना शहरों में हिंसा खूनी होती जा रही है। ग्वालियर में थाटीपुर इलाके में दो युवकों की मौत हो गई है। मुरैना में हिंसक झड़पों में एक युवक की मौत हो गई है। पुलिस और एससी-एसटी समुदाय के लोगों के बीच हुई फायरिंग के दौरान युवक को गोली लगी। जबकि भिंड में पुलिस फायरिंग में एक युवक की…
Loading...