पोर्टल ‘भारत के वीर’ ने जुटाए 12.93 करोड़ रुपये

अक्षय कुमार , ऑनलाइन पोर्टल , भारत के वीर , कैलाश खेर , स्वच्छ भारत अभियान , बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ , गृह मंत्री राजनाथ सिंह , अर्धसैनिक बल के जवानों के परिजनों के लिए पोर्टल , , Akshay Kumar, Online Portal, Veer of India, Kailash Kher, Swachh Bharat Abhiyan, Beti Bachao Beti Teacha, Home Minister Rajnath Singh, Portals for families of paramilitary personnel
पोर्टल 'भारत के वीर' ने जुटाए 12.93 करोड़ रुपये

नई दिल्ली। फिल्म कलाकार अक्षय कुमार ने शनिवार को ऑनलाइन पोर्टल ‘भारत के वीर’ के आधिकारिक गीत को लॉन्च करते हुए बताया कि इस पोर्टल की सहायता से अब तक 12.93 करोड़ रुपये अर्जित हुए हैं। इस गीत को लिखने, संगीत देने और गाने वाले कैलाश खेर इससे पहले ‘स्वच्छ भारत अभियान’ और ‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ’ जैसी सरकारी पहलों में सहयोग कर चुके हैं।

Bharat Ke Veer Portal Raises Rs 12 93 Crore :

अक्षय कुमार ने शनिवार को ट्वीट करते हुए यह जानकारी दी। उन्होंने लिखा, “हमारे सैनिकों का जितना आभार व्यक्त किया जाए कम है। हम आज तक 12.93 करोड़ रुपये जमा करने में सफल हुए हैं। ‘भारत के वीर’ गीत को समर्थन देने यहां आए लोगों को धन्यवाद। इस मंच के लिए राजनाथ सिंह जी का विशेष धन्यवाद।

इस ऑनलाइन पोर्टल को गृह मंत्री राजनाथ सिंह और अक्षय कुमार ने पिछले वर्ष 9 अप्रैल को लॉन्च किया था। इसका लक्ष्य 1 जनवरी 2016 से देश के लिए शहीद हुए अर्धसैनिक बल के जवानों के परिजनों की आर्थिक सहायता करने के लिये रुपये जुटाना है।

नई दिल्ली। फिल्म कलाकार अक्षय कुमार ने शनिवार को ऑनलाइन पोर्टल 'भारत के वीर' के आधिकारिक गीत को लॉन्च करते हुए बताया कि इस पोर्टल की सहायता से अब तक 12.93 करोड़ रुपये अर्जित हुए हैं। इस गीत को लिखने, संगीत देने और गाने वाले कैलाश खेर इससे पहले 'स्वच्छ भारत अभियान' और 'बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ' जैसी सरकारी पहलों में सहयोग कर चुके हैं।अक्षय कुमार ने शनिवार को ट्वीट करते हुए यह जानकारी दी। उन्होंने लिखा, "हमारे सैनिकों का जितना आभार व्यक्त किया जाए कम है। हम आज तक 12.93 करोड़ रुपये जमा करने में सफल हुए हैं। 'भारत के वीर' गीत को समर्थन देने यहां आए लोगों को धन्यवाद। इस मंच के लिए राजनाथ सिंह जी का विशेष धन्यवाद। इस ऑनलाइन पोर्टल को गृह मंत्री राजनाथ सिंह और अक्षय कुमार ने पिछले वर्ष 9 अप्रैल को लॉन्च किया था। इसका लक्ष्य 1 जनवरी 2016 से देश के लिए शहीद हुए अर्धसैनिक बल के जवानों के परिजनों की आर्थिक सहायता करने के लिये रुपये जुटाना है।