इंदौर में एक वोट के लिए बीजेपी समर्थक की गोली मारकर हत्या

kil
इंदौर में एक वोट के लिए बीजेपी समर्थक की गोली मारकर हत्या

भोपाल। मध्यप्रदेश के सांवेर में 65 साल के नेमीचंद तंवर की गोली मारकर हत्या कर दी गई। आरोप है कि कांग्रेस नेता अरूण शर्मा ने बीजेपी से जुड़े नेमीचंद को सिर्फ इसलिये गोली मार दी क्योंकि उन्होंने बीजेपी को वोट दिया था।

Bharatiya Janata Party Leader Killed In Indore :

एएसपी मनीष खत्री ने बताया कि ग्राम पालिया में रहने वाले भाजपा कार्यकर्ता नेमीचंद तंवर का रविवार सुबह इलाके के कांग्रेस नेता अरुण शर्मा से विवाद हुआ था। इस दौरान अरुण ने वाेटिंग खत्म हाेने के बाद देख लेने की धमकी दी थी। शाम को नेमीचंद के चेहरे पर गोली चला दी गई।

इंदौर में नेमीचंद तंवर नाम के एक अधेड़ की गोली मारकर हत्या कर दी गयी। हमले में उसकी पत्नी और बेटा भी घायल हुए है, जिन्हें इलाज के लिए निजी अस्पताल में भर्ती किया गया है। हमलावर पिता पुत्र फरार हैं, जिनकी तलाश की जा रही है।

मामला इंदौर के ग्रामीण इलाके पालिया गांव का है.यहां रहने वाला राहुल तंवर रविवार दोपहर मतदान कर अपने घर की ओर लौट रहा था। रास्ते में उसे अरुण शर्मा नाम का शख़्स मिला। उसने राहुल से वोट के बारे में पूछा और विवाद किया। झगड़ा ज़्यादा बढ़ा तो राहुल के पिता नेमीचंद तंवर और भाई बसंत भी मौके पर पहुंचे और झगड़ा सुलझा कर घर लौट आए।

राहुल और अरुण के बीज झगड़ा इतना ज़्यादा हो गया था कि परिवार वालों ने राहुल को दूसरे गांव भेज दिया। बाद में अरुण शर्मा अपने बेटों नवीन और पंकज के साथ फिर राहुल के घर आया। राहुल नहीं था, उसके पिता नेमीचंद घर पर मिले। अरुण शर्मा ने नेमीचंद तंवर को गोली मार दी।

बंदूक से किए गए फायर से निकले छर्रे राहुल की मां पुष्पाबाई और भाई बसंत को भी लगे। हमले में घायल सभी लोगों को इलाज के लिए निजी अस्पताल ले जाया गया, जहा नेमीचंद की मौत हो गयी।

घटना के विरोध में पलिया गांव के लोग सड़कों पर उतरे और इंदौर-उज्जैन मार्ग पर चक्का जाम कर दिया। इलाके में तनाव को देखते हुए भारी पुलिस बल तैनात किया गया। पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान नेमीचंद के अंतिम संस्कार में शामिल होंगे।

भोपाल। मध्यप्रदेश के सांवेर में 65 साल के नेमीचंद तंवर की गोली मारकर हत्या कर दी गई। आरोप है कि कांग्रेस नेता अरूण शर्मा ने बीजेपी से जुड़े नेमीचंद को सिर्फ इसलिये गोली मार दी क्योंकि उन्होंने बीजेपी को वोट दिया था। एएसपी मनीष खत्री ने बताया कि ग्राम पालिया में रहने वाले भाजपा कार्यकर्ता नेमीचंद तंवर का रविवार सुबह इलाके के कांग्रेस नेता अरुण शर्मा से विवाद हुआ था। इस दौरान अरुण ने वाेटिंग खत्म हाेने के बाद देख लेने की धमकी दी थी। शाम को नेमीचंद के चेहरे पर गोली चला दी गई। इंदौर में नेमीचंद तंवर नाम के एक अधेड़ की गोली मारकर हत्या कर दी गयी। हमले में उसकी पत्नी और बेटा भी घायल हुए है, जिन्हें इलाज के लिए निजी अस्पताल में भर्ती किया गया है। हमलावर पिता पुत्र फरार हैं, जिनकी तलाश की जा रही है। मामला इंदौर के ग्रामीण इलाके पालिया गांव का है.यहां रहने वाला राहुल तंवर रविवार दोपहर मतदान कर अपने घर की ओर लौट रहा था। रास्ते में उसे अरुण शर्मा नाम का शख़्स मिला। उसने राहुल से वोट के बारे में पूछा और विवाद किया। झगड़ा ज़्यादा बढ़ा तो राहुल के पिता नेमीचंद तंवर और भाई बसंत भी मौके पर पहुंचे और झगड़ा सुलझा कर घर लौट आए। राहुल और अरुण के बीज झगड़ा इतना ज़्यादा हो गया था कि परिवार वालों ने राहुल को दूसरे गांव भेज दिया। बाद में अरुण शर्मा अपने बेटों नवीन और पंकज के साथ फिर राहुल के घर आया। राहुल नहीं था, उसके पिता नेमीचंद घर पर मिले। अरुण शर्मा ने नेमीचंद तंवर को गोली मार दी। बंदूक से किए गए फायर से निकले छर्रे राहुल की मां पुष्पाबाई और भाई बसंत को भी लगे। हमले में घायल सभी लोगों को इलाज के लिए निजी अस्पताल ले जाया गया, जहा नेमीचंद की मौत हो गयी। घटना के विरोध में पलिया गांव के लोग सड़कों पर उतरे और इंदौर-उज्जैन मार्ग पर चक्का जाम कर दिया। इलाके में तनाव को देखते हुए भारी पुलिस बल तैनात किया गया। पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान नेमीचंद के अंतिम संस्कार में शामिल होंगे।