1. हिन्दी समाचार
  2. एस्ट्रोलोजी
  3. Bhaum Pradosh Vrat 2022 : भौम प्रदोष व्रत इस दिन है, जानें पूजा मुहूर्त और महत्व

Bhaum Pradosh Vrat 2022 : भौम प्रदोष व्रत इस दिन है, जानें पूजा मुहूर्त और महत्व

हिंदू धर्म में भगवान शिव की पूजा अर्चना का विशेष महत्व है। भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए प्रदोष व्रत का पालन किया जाता है।

By अनूप कुमार 
Updated Date

Bhaum Pradosh Vrat 2022 : हिंदू धर्म में भगवान शिव की पूजा अर्चना का विशेष महत्व है। भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए प्रदोष व्रत का पालन किया जाता है। प्रदोष व्रत भगवान भोलेनाथ को समर्पित है। फाल्गुन माह के शुक्ल पक्ष का प्रदोष व्रत मंगलवार के दिन है, इस वजह से यह भौम प्रदोष व्रत है।

पढ़ें :- सीता नवमी 2022: देखिये तिथि, समय, शुभ मुहूर्त और जानकी नवमी का महत्व

प्रदोष व्रत 2022 तिथि
हिंदू पंचांग के अनुसार, फाल्गुन माह के शुक्ल पक्ष की त्रयोदशी तिथि का प्रारंभ 15 मार्च दिन मंगलवार को दोपहर 01 बजकर 12 मिनट पर हो रहा है। यह तिथि अगले दिन 16 मार्च बुधवार को दोपहर 01 बजकर 39 मिनट तक है।

प्रदोष व्रत में शिव पूजा की ही महत्व है। भक्त गण इस दिन भगवान भोलेनाथ की प्रिय वस्तुएं उनको अर्पित कर उनकी कृपा प्राप्त कर सकते है। भक्त गण  भांग, बेलपत्र, धतूरा, मदार पुष्प, गंगाजल, दूध आदि से भगवान शिव की  विधिपूर्वक पूजा अर्चना करते हैं।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...