1. हिन्दी समाचार
  2. भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर जेल से रिहा होते ही फिर पंहुचे जामा मस्जिद, पढ़ी संविधान की प्रस्तावना

भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर जेल से रिहा होते ही फिर पंहुचे जामा मस्जिद, पढ़ी संविधान की प्रस्तावना

Bhima Army Chief Chandrasekhar Released Jama Masjid Again After Release From Jail Read The Preamble Of The Constitution

नई दिल्ली। नागरिकता कानून के खिलाफ हिंसक प्रदर्शन करने को लेकर भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर आजाद को गिरफ्तार किया गया था जिसके बाद गुरुवार की रात उन्हे तिहाड़ जेल से रिहा कर दिया गया। इस दौरान कोर्ट ने उन पर एक डेड लाईन भी बनाई है, लेकिन दिल्ली छोड़ने से पहले चंद्रशेखर एकबार फिर जामा मस्जिद पंहुच गये और संविधान की प्रस्तावना भी पढ़ी।

पढ़ें :- Ind vs Aus: भारत के इन खिलाड़ियों को पहले वनडे मैच में मिल सकती है प्लेइंग इलेवन में जगह

आपको बता दें कि चंद्रशेखर को जामा मस्जिद पर ऐसा ही प्रदर्शन करने पर 21 दिसंबर को गिरफ्तार किया गया था। कोर्ट ने उन्हे इस मामले में शर्तां पर जमानत दी है इसलिए शुक्रवार रात 9 बजे से पहले उन्हे दिल्ली छोड़ना होगा। चन्द्रशेखर शुक्रवार सुबह पहले मंदिर गए थे और फिर वहां से वो जामा मस्जिद पंहुच गये जहां मस्जिद की सीढ़ियों पर प्रदर्शनकारियों के साथ बैठकर उन्होने संविधान की प्रस्तावना पढ़ी। बताया गया कि इसके अलावा वह बंगला साहिब गुरुद्वारा और चर्च भी जाएंगे।

बता दें कि पुरानी दिल्ली के दरियागंज में संशोधित नागरिकता कानून के खिलाफ प्रदर्शनों के दौरान हिंसा को लेकर उन्हे जेल भेजा गया था। चंद्रशेखर के संगठन ने पुलिस की अनुमति के बगैर 20 दिसंबर को संशोधित नागरिकता कानून के खिलाफ जामा मस्जिद से जंतर मंतर तक मार्च का आयोजन किया था। भीम आर्मी प्रमुख को 21 दिसंबर को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया था। बुधवार को भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर आजाद को जमानत मिली थी जिसके बाद गुरूवार रात उन्हे जेल से रिहा कर दिया गया। अदालत ने कहा था कि चन्द्रशेखर चार हफ्तों तक दिल्ली नहीं आ सकेंगे और चुनावों तक कोई धरना आयोजित नहीं करेंगे।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...