भ्रष्टाचार के सबूतों पर केजरीवाल चुप क्यों?

दिल्ली सरकार, अरविन्द केजरीवाल, भ्रष्टाचार, कपिल मिश्रा,Delhi Government, Arvind Kejriwal, Corruption, Kapil Mishra

नई दिल्ली: दिल्ली सरकार के पूर्व पर्यटन मंत्री कपिल मिश्रा ने एक बार फिर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर निशाना साधते हुए उनकी चुप्पी पर सवाल उठाया। उन्होंने कहा कि तमाम घोटालों के सबूत दिए जाने के बावजूद मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल चुप क्यों हैं। उन्होंने 3 जून को कांस्टीट्यूशन क्लब में घोटालों के सबूतों की प्रदर्शनी लगाने का एलान किया। पूर्व पर्यटन मंत्री कपिल मिश्रा ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर हमला करते हुए कहा कि वह लगातार दिल्ली सरकार के भ्रष्टाचार के सबूत पेश कर रहे हैं लेकिन मुख्यमंत्री चुप हैं।




उन्होंने कहा कि गत दिवस भी 300 करोड़ से अधिक का दवाओं से जुड़े मामले में सीधे तौर पर अरविंद केजरीवाल और सत्येंद्र जैन के शामिल होने के सबूत दिए। एम्बुलेंस घोटाले के बिल तक दिखाए। ट्रांसफर पोस्टिंग घोटाले के भी सबूत दिए। सारे सबूत सामने रखने के बाद भी अरविंद केजरीवाल चुप हैं, मनीष सिसोदिया चुप हैं और सत्येन्द्र जैन गायब हैं। उन्होंने कहा कि विदेशी दौरें छिपाए जा रहे हैं, एक के बाद एक घोटाले खुल रहे हैं। पंजाब में गुरप्रीत घुग्गी महिलाओं के शोषण की शिकायत पर पार्टी छोड़ कर जा रहे हैं।

मुख्यमंत्री के सगे संबंधियों के यहां छापे पड़ रहे है, फर्जी बिल सामने आ रहे हैं और जिन कंपनियों के खिलाफ सरकार जांच कर रही है उन्हीं के निदेशकों के साथ आम आदमी पार्टी के नेता विदेश की यात्राएं कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि यह कोई मेरी व्यक्तिगत लड़ाई नहीं है। ये कपिल मिश्रा और अरविंद केजरीवाल की लड़ाई नहीं हैं। कपिल मिश्रा ने कहा कि ये लड़ाई न क्रोध में है ना प्रतिशोध में, ये भ्रष्टाचार और सदाचार की जंग हैं। उन्होंने कहा कि असीम अहमद खान के खिलाफ केवल एक ऑडियो क्लिप आते ही 2 मिनट में उन्हें हटा दिया गया था आज खुद अरविंद केजरीवाल के खिलाफ व सत्येंद्र जैन के खिलाफ अनेक पुख्ता सबूत हैं।




उन्होंने कहा कि आज ईमानदारी की परिभाषा बदल चुकी है। उन्होंने सवाल किया कि क्या अरविंद केजरीवाल दिल्ली की जनता की ताकत को भूल गए हैं। उन्होंने बताया कि दिल्ली सरकार के खिलाफ भ्रष्टाचार के सारे सबूतों को वह जनता के सामने रखेंगे और 3 जून को कांस्टीट्युशन क्लब में घोटालों के दस्तावेजों की एक प्रदर्शनी लगाई जाएगी। उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार के खिलाफ इस जंग में अभी तक एक लाख से अधिक लोगों का समर्थन उन्हें मिस्ड कॉल के जरिए मिल चुका है तथा अन्ना आंदोलन व इंडिया अगेंस्ट करप्शन के कई लोग भी उनके साथ हैं।