1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. अखिलेश का योगी सरकार पर बड़ा अटैक, बोले-यूपी पुलिस हिरासत के दौरान मौत के मामले में देश में नंबर वन

अखिलेश का योगी सरकार पर बड़ा अटैक, बोले-यूपी पुलिस हिरासत के दौरान मौत के मामले में देश में नंबर वन

समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) पुलिस कस्टडी (Police custody)  में मारे गए बलवंत के परिवार से मिलने सोमवर को कानपुर देहात (Kanpur Dehat) के गांव सरैया पहुंचे थे। यहां पीड़ित परिवार को सांत्वना देते हुए लगभग परिवार से एक घंटे तक बातचीत की।

By संतोष सिंह 
Updated Date

कानपुर। समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) पुलिस कस्टडी (Police custody)  में मारे गए बलवंत के परिवार से मिलने सोमवर को कानपुर देहात (Kanpur Dehat) के गांव सरैया पहुंचे थे। यहां पीड़ित परिवार को सांत्वना देते हुए लगभग परिवार से एक घंटे तक बातचीत की। इसके साथ ही हर संभव मदद का आश्वासन दिया। वहीं योगी सरकार (Yogi Government) पर हमला बोलते हुए अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने कहा कि यूपी पुलिस (UP Police)  हिरासत के दौरान मौत (Death During Custody)के मामले में देश में नंबर वन है। जब से प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी (BJP) की सरकार आई तब से सबसे ज्यादा पुलिस हिरासत में मौतें हुई हैं।

पढ़ें :- सीएम योगी बोले-कभी सफल नहीं होगी अवैध धर्मांतरण वालों की मंशा, जाग चुका है देश

पुलिस की बर्बरता का शिकार हुए बलवंत के परिजनों से मुलाकात करने के बाद यादव ने कहा कि परिवार के सामने बर्बरता से पुलिसवाले पीट रहे थे। इतना पीटा जिसकी आप कल्पना भी नहीं कर सकते है। उसकी जान चली गई। पूरी घटना में साजिश है और षड्यंत्र है पूरी तरह से घटना की जिम्मेदार पुलिस है। जो कार्रवाई हुई है हमें इतने से संतुष्ट नहीं होना है। ऐसी कार्रवाई पहले भी हुए हैं, लेकिन सवाल ये उठता है सवाल ये उठता है कि पुलिस हिरासत में मौत की घटना रुक क्यों नहीं रही है?

अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने कहा कि मैं आपको बता दूं ऐसी घटना इसलिए नहीं रुक रही हैं। क्योंकि सरकार की नीयत साफ नहीं है। क्योंकि सरकार झूठे मुकदमे लगा ना झूठा फसाना देना वसूली करना चरम सीमा पर लूट और भ्रष्टाचार है।

कहीं सरकारी नौकरी तो कहीं आंगनबाड़ी भेदभाव क्यों?

पुलिस बर्बरता का शिकार हुए बलवंत की परिवार से मिलने के बाद अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने योगी सरकार (Yogi Government)पर निशाना साधते हुए कहा कि कहीं और घटना हो तो आप सरकारी नौकरी देते है और यहां पर जो घटना हुई है आप आंगनबाड़ी में नौकरी देना चाहते हैं। मैं सरकार से मांग करता हूं कि मृतक की पत्नी शालिनी को सरकारी नौकरी दी जानी चाहिए। साथ ही पीड़ित परिवार को एक करोड़ देकर उसकी मदद करनी चाहिए।

पढ़ें :- Asaram Bapu News: आसाराम बापू को लगा बड़ा झटका, शिष्या से दुष्कर्म मामले में दोषी करार

सीबीआई या फिर सिटिंग जज की देखरेख में हो जांच

अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) कहा कि उन्होंने परिवार से बातचीत की है तो परिवार इस दौरान पूरी घटना की निष्पक्ष जांच चाहता है इसलिए मैं सरकार से मांग करता हूं कि घटना की सीबीआई जांच हो ये फिर सिटिंग जज की देखरेख में जांच कराई जाए ताकि परिवार को न्याय मिल सके। अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) यहीं नहीं रुके। उन्होंने साफ तौर पर योगी सरकार (Yogi Government) को कटघरे में खड़ा करते हुए कहा कि जबसे प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की सरकार आई तब से सबसे ज्यादा पुलिस हिरासत में मौतें हुई हैं।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...