1. हिन्दी समाचार
  2. खबरें
  3. योगी सरकार का बड़ा फैसला: होम आइसोलेशन में कोरोना मरीजों को रहने की सुविधा

योगी सरकार का बड़ा फैसला: होम आइसोलेशन में कोरोना मरीजों को रहने की सुविधा

By शिव मौर्या 
Updated Date

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने कोरोना की चेन तोड़ने को लेकर बड़ा फैसला लिया है। टीम—11 के साथ सोमवार को सीएम योगी आदित्यनाथ ने बैठक की। इस बैठक में कोरोना संक्रमितों को होम आइसोलेशन की मंजूरी दे दी है। हालांकि, इसके लिए होम आइसोलेशन के प्रोटोकॉल का पालन करना अनिवार्य होगा। सीएम योगी ने इसको लेकर तत्काल ही गाइडलाइन बनाने का आदेश दिया है।

उन्होंने कहा कि माइल्ड लक्षण वालों को होम आइसोलेशन में रखा जाएगा। हालांकि उन्होंने कहा कि राज्य सरकार के पास कोविड हाॅस्पिटल में पर्याप्त संख्या में बेड्स मौजूद हैं। उन्होंने कहा कि कोविड-19 से बचाव के बारे में व्यापक जागरूकता अभियान संचालित किया जाए। बेहतर इम्युनिटी कोविड-19 से बचाव के लिए जरूरी है।

कोविड-19 से होने वाली मृत्यु की दर को न्यूनतम स्तर पर लाने के लिए स्वास्थ्य विभाग तथा चिकित्सा शिक्षा विभाग प्रभावी कार्यवाई करे। संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए काॅन्टैक्ट ट्रेसिंग प्रत्येक दशा में की जाए। सीएम ने कहा कि जनपद लखनऊ, कानपुर नगर, बस्ती, प्रयागराज, बरेली, गोरखपुर, बलिया, झांसी, मुरादाबाद एवं वाराणसी में चिकित्सकों की विशेष टीम भेजने के लिए स्वास्थ्य विभाग और चिकित्सा शिक्षा विभाग को निर्देशित किया है।

इन जनपदों के नोडल अधिकारी भी टीम के साथ रहेंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना के बढ़ते संक्रमण में डोर-टू-डोर सर्वे एक आवश्यक प्रक्रिया है, जिसके अन्तर्गत मेडिकल स्क्रीनिंग के माध्यम से कोविड-19 के पीडि़तों को चिन्हित करने में बड़ी सहायता मिल रही है। इस कार्य को सतत जारी रखें और कोरोना की दृष्टि से संदिग्ध पाए गए व्यक्तियों की रैपिड एन्टीजन टेस्ट से जांच हो।

 

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...