बीजेपी सांसद अनंत हेगड़े का बड़ा खुलासा, कहा-केंद्र के 40 हजार करोड़ बचाने के लिए फडणवीस बने सीएम

anant
बीजेपी सांसद अनंत हेगड़े का बड़ा खुलासा, कहा-केंद्र के 40 हजार करोड़ बचाने के लिए फडणवीस बने सीएम

मुंबई। भारतीय जनता पार्टी के सांसद अनंत कुमार हेगड़े ने बड़ा खुलासा किया है। सांसद का दावा है कि महाराष्ट्र में बीजेपी ने देवेंद्र फडणवीस को 40 हजार करोड़ का फंड बचाने के लिए सीएम बनाकर ड्रामा किया। सांसद अनंत कुमार हेगड़े ने कहा कि, आप सभी जानते हैं कि महाराष्ट्र में देवेंद्र फडणवीस 80 घंटे के लिए सीएम बने और उसके बाद इस्तीफा दे दिया।

Big Disclosure Of Bjp Mp Anant Hegde Said Fadnavis Becomes Cm To Save 40 Thousand Crores Of Center :

उन्होंने सवाल किया कि यह नाटक क्यों किया? क्या हमें नहीं पता था कि हमारे पास बहुमत नहीं था और फिर भी वह सीएम बन गए। यह वह सवाल है जो हर कोई पूछता है। अनंत हेगड़े ने कहा कि सीएम के पास करीब 40 हजार करोड़ की केंद्र की राशि थी। अगर कांग्रेस, एनसीपी और शिवसेना सत्ता में आते तो वे 40 हजार करोड़ का दुरुपयोग करते।

यही कारण है कि केंद्र सरकार के इस पैसे को विकास के लिए इस्तेमाल में नहीं लाया जा सके, इसके लिए ड्रामा किया गया। उन्होंने कहा, बहुत पहले से बीजेपी की यह योजना थी। इसलिए यह तय किया गया कि एक नाटक होना चाहिए और इसी के तहत फडणवीस ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। शपथ लेने के 15 घंटे के अंदर फडणवीस ने सभी 40 हजार करोड़ रुपयों को उस जगह पर पहुंचा दिया जहां से वो आए थे। इस तरह फडणवीस ने सारा पैसा वापस केंद्र सरकार को देकर बचा लिया।

मुंबई। भारतीय जनता पार्टी के सांसद अनंत कुमार हेगड़े ने बड़ा खुलासा किया है। सांसद का दावा है कि महाराष्ट्र में बीजेपी ने देवेंद्र फडणवीस को 40 हजार करोड़ का फंड बचाने के लिए सीएम बनाकर ड्रामा किया। सांसद अनंत कुमार हेगड़े ने कहा कि, आप सभी जानते हैं कि महाराष्ट्र में देवेंद्र फडणवीस 80 घंटे के लिए सीएम बने और उसके बाद इस्तीफा दे दिया। उन्होंने सवाल किया कि यह नाटक क्यों किया? क्या हमें नहीं पता था कि हमारे पास बहुमत नहीं था और फिर भी वह सीएम बन गए। यह वह सवाल है जो हर कोई पूछता है। अनंत हेगड़े ने कहा कि सीएम के पास करीब 40 हजार करोड़ की केंद्र की राशि थी। अगर कांग्रेस, एनसीपी और शिवसेना सत्ता में आते तो वे 40 हजार करोड़ का दुरुपयोग करते। यही कारण है कि केंद्र सरकार के इस पैसे को विकास के लिए इस्तेमाल में नहीं लाया जा सके, इसके लिए ड्रामा किया गया। उन्होंने कहा, बहुत पहले से बीजेपी की यह योजना थी। इसलिए यह तय किया गया कि एक नाटक होना चाहिए और इसी के तहत फडणवीस ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। शपथ लेने के 15 घंटे के अंदर फडणवीस ने सभी 40 हजार करोड़ रुपयों को उस जगह पर पहुंचा दिया जहां से वो आए थे। इस तरह फडणवीस ने सारा पैसा वापस केंद्र सरकार को देकर बचा लिया।