SC/ST एक्ट के विरोध में सवर्णों का आंदोलन तेज, BJP – कांग्रेस की नींद उड़ी

SC/ST एक्ट के विरोध में सवर्णों का आंदोलन तेज, BJP - कांग्रेस की नींद उड़ी
SC/ST एक्ट के विरोध में सवर्णों का आंदोलन तेज, BJP - कांग्रेस की नींद उड़ी

Biggest Rally In Gwalior Against The Sc St Act In Madhya Pradesh

नई दिल्ली। मोदी सरकार द्वारा दलितों की नाराजगी को दूर करने के लिए SC/ST एक्ट में संशोधन के बाद इसे पूरेे मूल रूप में बहाल करने का फैसला तूल पकड़ता जा रहा है। SC/ST एक्ट के विरोध में मध्य प्रदेश में सवर्णों के आंदोलन को देखते हुए शिवपुरी जिले में धारा 144 लागू कर दी गई है, जो 6 सितंबर तक रहेगी। इसके अलावा सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक कमेंट्स पर रोक लगा दी गई है।

ग्वालियर में एक्ट में संशोधन कर इसे मूल रूप में बहाल करने के खिलाफ आज ‘भारत बंद’ का ऐलान किया गया है। एससी/एसटी एक्ट के खिलाफ सामान्य, पिछड़ा और अल्पसंख्यक वर्ग अधिकारी, कर्मचारी संस्था (सपाक्स) द्वारा यह आंदोलन पूरे राज्य में फैलता जा रहा है, जिससे भाजपा के साथ ही कांग्रेस की भी नींद उड़ी हुई है।

सवर्ण समाज का आंदोलन

बता दें SC/ST एक्ट पर 2 अप्रैल को आए सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद दलित वर्ग ने इसका खासा विरोध किया था, जिसके चलते ग्वालियर, चंबल और शिवपुरी में काफी हिंसा फैली थी। ऐसे में SC/ST एक्ट में हुए संशोधन के बाद इसे मूल रूप से बहाल करने के फैसले पर सवर्ण समाज भी एकजुट होकर आंदोलन के लिए आगे बढ़ा है। एक्ट के विरोध में आज ग्वालियर के फूलबाग मैदान में स्वाभिमान सम्मेलन का भी आयोजन किया जाएगा। इस सम्मेलन में क्षत्रिय महासभा, गुर्जर महासभा और परशुराम सेना भाग लेंगी। साथ ही प्रवचनकार देवकीनंदन ठाकुर भी इस सम्मेलन में शिरकत करेंगे।

ग्वालियर में प्रशासन अलर्ट

आंदोलन को देखते हुए ग्वालियर जिले में प्रशासन अलर्ट पर है. जिला प्रशासन ने ग्वालियर जिले में सभी लाइसेंस 11 सितंबर तक के लिए निलंबित कर दिए हैं। इस दौरान कोई भी व्यक्ति हथियार प्रदर्शन नहीं कर सकता। जज, प्रशासनिक अधिकारी, अस्पताल आदि पर यह आदेश लागू नहीं होगा। ग्वालियर चंबल के अलावा राजधानी भोपाल सहित अन्य जिलों में भी प्रशासन को अलर्ट ककिया गया है। इससे पहले एक्ट के विरोध में कई जगह प्रदर्शन देखने को मिले हैं। प्रदेश के मंत्री के अलावा एमपी पहुंचे केंद्रीय मंत्रियों का भी घेराव किया जा चुका है।

नई दिल्ली। मोदी सरकार द्वारा दलितों की नाराजगी को दूर करने के लिए SC/ST एक्ट में संशोधन के बाद इसे पूरेे मूल रूप में बहाल करने का फैसला तूल पकड़ता जा रहा है। SC/ST एक्ट के विरोध में मध्य प्रदेश में सवर्णों के आंदोलन को देखते हुए शिवपुरी जिले में धारा 144 लागू कर दी गई है, जो 6 सितंबर तक रहेगी। इसके अलावा सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक कमेंट्स पर रोक लगा दी गई है। ग्वालियर में एक्ट में संशोधन…