1. हिन्दी समाचार
  2. बिहार
  3. बिहारः सोशल मीडिया पर नीतीश सरकार के खिलाफ लिखा तो होगी कार्रवाई, ईओयू ने कही ये बातें…

बिहारः सोशल मीडिया पर नीतीश सरकार के खिलाफ लिखा तो होगी कार्रवाई, ईओयू ने कही ये बातें…

By शिव मौर्या 
Updated Date

नई दिल्ली। बिहार में मंत्री, सांसद, विधायक, अधिकारी और कर्मचारी के खिलाफ टिप्पणी करना भारी पड़ेगा। इसके साथ ही आपके खिलाफ कानूनी कार्रवाई भी हो सकती है। प्रतिष्ठा हनन या छवि धूमिल करने के आरोप में आईटी एक्ट की धाराओं के तहत मामला दर्ज होगा और जांच की जाएगी।

पढ़ें :- केन्द्र में भाजपा सरकार बनने के बाद अनेकों कल्याणकारी कार्यक्रम शुरू किये गये : सीएम योगी

दरअसल, आर्थिक अपराध इकाई (ईओयू) ने बिहार सरकार के सभी विभागों के प्रधान सचिव और सचिव को पत्र लिखकर ऐसे किसी पोस्ट की शिकायत करने को कहा है। इसमें कहा गया है कि सोशल मीडिया पर किसी के खिलाफ आपत्तिजनक या तथ्यहीन पोस्ट करने पर कार्रवाई की जायेगी। गुरुवार को इस संबंध में ईओयू द्वारा जारी पत्र में ऐसे किसी पोस्ट की सूचना देने का आग्रह किया गया है जिससे व्यक्ति या संस्थान के साथ सरकार की प्रतिष्ठा का हनन होता है या किसी की छवि धूमिल होती है।

इस श्रेणी में आपत्तिजनक, अभद्र और भ्रांतिपूर्ण टिप्पणी आएगी। एडीजी ईओयू एनएच खान ने सभी विभागों के प्रधान सचिव और सचिव को पत्र लिखकर कहा है कि उनके अधीन किसी अधिकारी-कर्मचारी के खिलाफ ऐसा कोई पोस्ट सामने आता है तो तुरंत इसकी जानकारी दें।इसे सोशल मीडिया का दुरुपयोग मानते हुए जांच की जाएगी और आईटी एक्ट के तहत पोस्ट डालनेवाले के खिलाफ कानूनी कार्रवाई होगी।

 

पढ़ें :- बांदा : समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने महंगाई को लेकर निकाली साइकिल रैली
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...