बिहार विधानसभा चुनाव की तारीख का 20 सितंबर तक हो सकता है एलान, तैयारियों में जुटीं पार्टियां

    bihar elections
    बिहार विधानसभा चुनाव की तारीख का 20 सितंबर तक हो सकता है एलान, तैयारियों में जुटीं पार्टियां

    पटना। बिहार विधानसभा चुनाव की तारीख के एलान से पहले वहां पर सियासी उठापटक शुरू हो गयी है। जोड़तोड़ की रणनीति भी बनने लगी है। सियासी कागजों पर मतदाताओं को अपनी तरफ खींचने की योजनाएं बनने लगी हैं। इस बीच खबर आ रही है कि 20 सितंबर तक बिहार विधानसभा चुनाव की तारीख का एलान हो जायेगा।

    Bihar Assembly Election Date May Be Announced By September 20 Parties Busy In Preparations :

    हालांकि पहले ऐसा माना जा रहा था कि कोविड-19 की वजह से विधानसभा के चुनाव टाले जा सकते हैं। वहीं, सूत्रों की माने तो बिहार में विधानसभा चुनाव दो से तीन चरणों में हो सकता है। इसके साथ ही कोरोना संक्रमितों के लिए अलग बूथ् बनाने की तैयारी भी है। इससे पहले सूबे के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने ग्रामीण कार्य विभाग के कार्यक्रम में कहा था कि चुनाव की तारीखों का एलान सितंबर तक हो जाएगा।

    सूत्रों के मुताबिक बूथ पर भीड़ ना बढ़े इसके लिए 50 फीसदी बूथों की संख्या बढ़ाई जाएगी। पिछले साल पूरे राज्य में 72,000 बूथ बनाए गए थे और इस बार डेढ़ लाख से ज्यादा बूथ तैयार किए जा सकते हैं। ऐसी व्यवस्था की जाएगी कि एक बूथ पर एक समय में 1,000 से ज्यादा लोग ना हो।

    इसके अलावा चुनाव के लिए राजनैतिक दल चुनावी सभाएं और दौरे तो करेंगे लेकिन इसमें सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा पालन करना है। चुनाव आयोग की ओर से ही चुनावी सभा के लिए पहले से जगह तय की जाएंगी और इसे लेकर चुनाव आयोग दिशा निर्देश भी जारी करेगा।

    पटना। बिहार विधानसभा चुनाव की तारीख के एलान से पहले वहां पर सियासी उठापटक शुरू हो गयी है। जोड़तोड़ की रणनीति भी बनने लगी है। सियासी कागजों पर मतदाताओं को अपनी तरफ खींचने की योजनाएं बनने लगी हैं। इस बीच खबर आ रही है कि 20 सितंबर तक बिहार विधानसभा चुनाव की तारीख का एलान हो जायेगा। हालांकि पहले ऐसा माना जा रहा था कि कोविड-19 की वजह से विधानसभा के चुनाव टाले जा सकते हैं। वहीं, सूत्रों की माने तो बिहार में विधानसभा चुनाव दो से तीन चरणों में हो सकता है। इसके साथ ही कोरोना संक्रमितों के लिए अलग बूथ् बनाने की तैयारी भी है। इससे पहले सूबे के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने ग्रामीण कार्य विभाग के कार्यक्रम में कहा था कि चुनाव की तारीखों का एलान सितंबर तक हो जाएगा। सूत्रों के मुताबिक बूथ पर भीड़ ना बढ़े इसके लिए 50 फीसदी बूथों की संख्या बढ़ाई जाएगी। पिछले साल पूरे राज्य में 72,000 बूथ बनाए गए थे और इस बार डेढ़ लाख से ज्यादा बूथ तैयार किए जा सकते हैं। ऐसी व्यवस्था की जाएगी कि एक बूथ पर एक समय में 1,000 से ज्यादा लोग ना हो। इसके अलावा चुनाव के लिए राजनैतिक दल चुनावी सभाएं और दौरे तो करेंगे लेकिन इसमें सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा पालन करना है। चुनाव आयोग की ओर से ही चुनावी सभा के लिए पहले से जगह तय की जाएंगी और इसे लेकर चुनाव आयोग दिशा निर्देश भी जारी करेगा।