बिहार विधानसभा चुनाव: पहले चरण की 49 सीटों पर मतदान संपन्न, पढ़ें अपडेट्स

पटना। बिहार विधानसभा चुनाव में पहले चरण के दस जिलों की 49 विधानसभा सीटों के लिए सोमवार को मतदान हुआ। फिलहाल चुनाव आयोग ने अभी तक आंकड़े जारी नही किये हैं। शाम 4 बजे तक 52% वोटिंग हो चुकी थी और सबसे ज्यादा खगड़िया में 61.06% वोटिंग होने की सूचना मिल रही है।

सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए नौ विधानसभा क्षेत्रों में तीन बजे और चार क्षेत्रों में चार बजे तक ही मतदान किया गया। बाकी सभी क्षेत्रों में शाम पांच बजे तक मतदान हुआ। राज्य निर्वाचन आयोग के अनुसार, प्रथम चरण के सभी 49 विधानसभा क्षेत्रों में मतदान संपन्न हो गया है, परंतु अंतिम आंकड़े अभी जुटाए जा रहे हैं। 

आयोग के मुताबिक, चार बजे तक लगभग 52 प्रतिशत मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग कर चुके थे। सबसे अधिक खगड़िया में 61 प्रतिशत से अधिक मतदाताओं ने मतदान किया। सबसे कम नवादा में लगभग 47 प्रतिशत मतदान हुआ। कुछ मतदान केन्द्रों पर कतार में लग चुके मतदाता मतदान कर रहे हैं। कुछ मतदान केन्द्रों पर मतदान बहिष्कार की भी सूचना मिली है।

प्रथम चरण में राज्य के 10 जिलों समस्तीपुर, बेगूसराय, खगड़िया, भागलपुर, बांका, मुंगेर, लखीसराय, शेखपुरा, नवादा और जमुई के कुल 49 विधानसभा क्षेत्रों में वोट डाले गए। इस दौरान जमुई के चकाई क्षेत्र में लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) के प्रत्याशी विजय कुमार सिंह पर अज्ञात अपराधियों ने गोलीबारी की, जिसमें वह बाल-बाल बच गए। पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि इस मामले में एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया है।

प्रथम चरण में 1.35 करोड़ मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करने के पात्र थे, जिनके लिए 13,212 मतदान केन्द्र बनाए गए थे। इनमें 7,384 मतदान केंद्रों को संवेदनशील घोषित किया गया था। 576 मतदान केन्द्रों पर वेब कास्टिंग की व्यवस्था की गई थी। प्रथम चरण में 54 महिलाओं सहित 583 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं।

चुनाव आयोग ने सामान्य विधानसभा क्षेत्रों में शाम पांच बजे तक, जबकि नक्सल प्रभावित इलाकों में अपराह्न् तीन बजे तक और कुछ क्षेत्रों में शाम चार बजे तक मतदान का समय निर्धारित किया गया था।

प्रथम चरण के चुनाव में चुनाव हिन्दुस्तानी अवाम मोर्चा (हम) के प्रदेश अध्यक्ष शकुनी चैधरी, लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) के प्रदेश अध्यक्ष पशुपति कुमार पारस, भाजपा की रेणु कुशवाहा, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सदानंद सिंह, जद (यू) के विजय चौधरी और मार्क्‍सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) के रामदेव वर्मा की राजनीतिक किस्मत ईवीएम में बंद हो गई।

इस चरण में राजग की घटक भाजपा के 27, लोजपा के 13, राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (रालोसपा) के छह, हम के तीन प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं। जबकि महागठबंधन में जद (यू) के 24, राजद के 17, और कांग्रेस के आठ प्रत्याशी चुनावी समर में हैं।

राज्य निर्वाचन आयोग के अपर मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी आर. लक्ष्मणन के मुताबिक, मतदान को लेकर सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध किए गए थे। सभी मतदान केंद्रों पर केंद्रीय अर्धसैनिक बलों के जवान तैनात किए गए तथा पांच हेलीकॉप्टर और ड्रोन से भी मतदान केंद्रों की निगरानी की गई। मतदान के लिए संबंधित जिलों में सोमवार को सार्वजनिक अवकाश घोषित किया गया था।

इस चुनाव में मुख्य मुकाबला कांग्रेस, राजद और जद (यू) के महागठबंधन और भाजपा नेतृत्व वाले राजग के बीच माना जा रहा है। राजग में लोजपा, रालोसपा और हम शामिल हैं।

इसके अलावा इस चुनाव में छह वाम दल एक अलग मोर्चा बनाकर चुनावी समर में हैं, जबकि उत्तर प्रदेश में सत्तारूढ़ समाजवादी पार्टी (सपा) के नेतृत्व वाला एक और गठबंधन जोर आजमाइश कर रहा है।

बिहार विधानसभा की कुल 243 सीटों के लिए 12 अक्टूबर से पांच नवंबर के बीच पांच चरणों में मतदान होना है। सभी सीटों के लिए मतगणना आठ नवंबर को होगी।