मोदी कैबिनेट में शामिल नहीं होने पर JDU सांसद का छलका दर्द, फेसबुक पर शुभचिंतकों के लिए लिखा यह संदेश

jdu
मोदी कैबिनेट में शामिल नहीं होने पर JDU सांसद का झलका दर्द, फेसबुक पर शुभचिंतकों के लिए लिखा यह संदेश

पटना। मोदी मंत्रीमंडल में शामिल नहीं होकर जेडीयू ने एक बार फिर बिहार की राजनीति को गरमा दिया है। शपथ ग्रहण् से पूर्व सरकार में जेडीयू के शामिल न होने के फैसले से हर कोई चकित कर गया। पहले चर्चा थी कि नीतीश कुमार की पार्टी से दो चेहरे मांदी कैबिनेट में शामिल होंगे। सरकार में शामिल होने पर जेडीयू से जिस चेहरे का मंत्री बनना तय माना जा रहा था वो थे आरसीपी सिंह।

Bihar Jdu Mp Rcp Singh Emotional Post On Facebook :

राज्यसभा सांसद आरसीपी सिंह ने सरकार में शामिल नहीं होने के बाद फेसबुक पर एक पोस्ट लिखा है और कार्यकर्ताओं से हताश नहीं होने की अपील की है। उन्होंने केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार में शामिल नहीं होने पर फेसबुक पर पोस्ट लिख कर कार्यकर्ताओं और शुभचिंतकों को धन्यवाद देते हुए संदेश दिया है।

उन्‍होंने स्नेह, विश्वास और सहयोग एकमात्र संबल बताते हुए लिखा है कि, ‘कार्यकर्ताओं को मेरे मंत्रिमंडल का हिस्सा नहीं बन पाने के लिए निराश होने की कोई आवश्यकता नहीं है। जीवन निरंतर चलते रहने की प्रक्रिया है तथा और भी कई अवसर आते रहेंगे, मंजिलें आती रहेंगी।’

इसके साथ ही लिखा है कि हमें निराश होने के बजाय और भी अधिक ऊर्जा के साथ पार्टी एवं संगठन को मजबूत करना है और पार्टी को पूरी मजबूती के साथ अपनी सेवाएं देते हुए नए मुकाम पर पहुंचाना है। एक बार फिर आप सभी साथियों कार्यकर्ताओं को बहुत-बहुत धन्यवाद और आभार।

पटना। मोदी मंत्रीमंडल में शामिल नहीं होकर जेडीयू ने एक बार फिर बिहार की राजनीति को गरमा दिया है। शपथ ग्रहण् से पूर्व सरकार में जेडीयू के शामिल न होने के फैसले से हर कोई चकित कर गया। पहले चर्चा थी कि नीतीश कुमार की पार्टी से दो चेहरे मांदी कैबिनेट में शामिल होंगे। सरकार में शामिल होने पर जेडीयू से जिस चेहरे का मंत्री बनना तय माना जा रहा था वो थे आरसीपी सिंह। राज्यसभा सांसद आरसीपी सिंह ने सरकार में शामिल नहीं होने के बाद फेसबुक पर एक पोस्ट लिखा है और कार्यकर्ताओं से हताश नहीं होने की अपील की है। उन्होंने केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार में शामिल नहीं होने पर फेसबुक पर पोस्ट लिख कर कार्यकर्ताओं और शुभचिंतकों को धन्यवाद देते हुए संदेश दिया है। उन्‍होंने स्नेह, विश्वास और सहयोग एकमात्र संबल बताते हुए लिखा है कि, 'कार्यकर्ताओं को मेरे मंत्रिमंडल का हिस्सा नहीं बन पाने के लिए निराश होने की कोई आवश्यकता नहीं है। जीवन निरंतर चलते रहने की प्रक्रिया है तथा और भी कई अवसर आते रहेंगे, मंजिलें आती रहेंगी।' इसके साथ ही लिखा है कि हमें निराश होने के बजाय और भी अधिक ऊर्जा के साथ पार्टी एवं संगठन को मजबूत करना है और पार्टी को पूरी मजबूती के साथ अपनी सेवाएं देते हुए नए मुकाम पर पहुंचाना है। एक बार फिर आप सभी साथियों कार्यकर्ताओं को बहुत-बहुत धन्यवाद और आभार।