विधायक के बेटे ने किया जानलेवा हमला, गिरफ्तार

औरंगाबाद: बिहार में औरंगाबाद जिले के दाउदनगर थाना क्षेत्र में शुक्रवार देर रात हुई मारपीट और छुरेबाजी की घटना में ओबरा के विधायक वीरेंद्र कुमार सिन्हा के बेटे और अंकोरहा पंचायत के मुखिया कुणाल प्रताप को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। बताया जाता है कि पुरानी रंजिश के कारण विधायक के मुखिया बेटे ने इस घटना को अंजाम दिया।

पुलिस के अनुसार, भगवान बिगहा गांव निवासी कुणाल प्रताप का अपने ही गांव के पिंटू कुमार से विवाद चल रहा था। शुक्रवार की रात करीब 10 बजे नीमा पेट्रोल पंप के समीप कुणाल और पिंटू के बीच झड़प हुई। आरोप है कि कुणाल ने अपने साथियों के साथ मिलकर पिंटू कुमार की पिटाई की और उस पर चाकू से हमला किया। इस घटना में पिंटू कुमार गंभीर रूप से घायल हो गया है।




दाउदनगर के थाना प्रभारी रविप्रताप ने शनिवार को बताया कि पिंटू को घायल अवस्था में स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां से उसे पटना रेफर कर दिया गया। उन्होंने बताया कि पिंटू के बयान पर दाउदनगर थाने में जानलेवा हमला करने की एक प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है तथा विधायक के बेटे कुणाल प्रताप को गिरफ्तार कर लिया गया है। पुलिस पूरे मामले की छानबीन कर रही है।

इस मामले में कुणाल के पिता तथा राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के विधायक वीरेंद्र सिन्हा का कहना है कि उन्हें राजनीतिक साजिश के तहत फंसाया जा रहा है।