1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. Bihar Political Crisis Live : बिहार में बड़ा उलटफेर, नीतीश सरकार में बीजेपी कोटे के 16 मंत्री राज्यपाल से मिलकर मंत्री पद से देंगे इस्तीफा

Bihar Political Crisis Live : बिहार में बड़ा उलटफेर, नीतीश सरकार में बीजेपी कोटे के 16 मंत्री राज्यपाल से मिलकर मंत्री पद से देंगे इस्तीफा

बिहार (Bihar) में सियासी उलटफेर की आशंकाओं के बीच पटना में सियासी पारा चढ़ गया है। नीतीश कुमार (Nitish Kumar) की पार्टी जनता दल यूनाइटेड (JDU) और विपक्षी राष्ट्रीय जनता दल (Rashtriya Janata Dal) के नेतृत्व वाले महागठबंधन में बैठकों का दौर जारी है। इसी बीच नीतीश कुमार (Nitish Kumar) के नेतृत्व वाली सरकार में गठबंधन सहयोगी भारतीय जनता पार्टी ( BJP ) अब तक चुप्पी साधे हुए थी।

By संतोष सिंह 
Updated Date

पटना। बिहार (Bihar) में सियासी उलटफेर की आशंकाओं के बीच पटना में सियासी पारा चढ़ गया है। नीतीश कुमार (Nitish Kumar) की पार्टी जनता दल यूनाइटेड (JDU) और विपक्षी राष्ट्रीय जनता दल (Rashtriya Janata Dal) के नेतृत्व वाले महागठबंधन में बैठकों का दौर जारी है। इसी बीच नीतीश कुमार (Nitish Kumar) के नेतृत्व वाली सरकार में गठबंधन सहयोगी भारतीय जनता पार्टी ( BJP ) अब तक चुप्पी साधे हुए थी।

पढ़ें :- Big News: बिहार के कृषि मंत्री सुधाकर सिंह ने दिया इस्तीफा, कुछ दिन पहले अपनी ही पार्टी पर बोले थे हमला

जेडीयू (JDU)  और बीजेपी ( BJP )  का गठबंधन बचाने की कवायदें विफल हो गईं। शायद ये बीजेपी ( BJP )  भी अब मान चुकी है। बिहार के सियासी घटनाक्रम को देखते हुए बीजेपी ( BJP ) भी ये मान चुकी है कि सूबे की सरकार में उसकी भागीदारी के अब कुछ ही समय शेष बचे हैं। यही वजह हो सकती है कि पार्टी ने नीतीश सरकार (Nitish Government) में अपने कोटे के मंत्रियों से राज्यपाल को मंत्री पद से इस्तीफा सौंप देने के लिए कह दिया है।

सूत्रों की मानें तो बीजेपी ने नीतीश कुमार (Nitish Kumar) के नेतृत्व वाली सरकार में अपने कोटे के मंत्रियों को ये निर्देश दिया है कि वे राजभवन जाकर राज्यपाल से मुलाकात करें। सूत्रों ने ये भी बताया कि नीतीश सरकार (Nitish Government) में बीजेपी ( BJP )  कोटे के सभी 16 मंत्रियों से राज्यपाल से मुलाकात कर उन्हें मंत्री पद से अपना इस्तीफा सौंप देने के लिए भी कहा गया है।

बता दें कि बिहार में नीतीश कुमार (Nitish Kumar) के नेतृत्व वाली राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (National Democratic Alliance) की सरकार के भविष्य को लेकर पिछले कुछ दिनों से अटकलों का बाजार गर्म था। जेडीयू (JDU)   और बीजेपी ( BJP ) के बीच दूरियां लगातार बढ़ती जा रही थीं ।तो वहीं नीतीश कुमार (Nitish Kumar)  भी केंद्र सरकार के कार्यक्रमों से भी दूरी बनाए हुए थे।

एनडीए गठबंधन (NDA Alliance) के भविष्य पर पिछले कुछ दिनों से सवाल उठ रहे तो बीजेपी ( BJP )  के शीर्ष नेतृत्व ने बिहार (Bihar) के नेताओं को साफ ताकीद कर दी थी कि वे गठबंधन को लेकर कोई भी बयान न दें। बीजेपी ( BJP ) हाईकमान की ओर से बिहार (Bihar) के नेताओं को ये साफ कह दिया गया था कि गठबंधन से जुड़े सवालों पर बस इतना ही कहें कि सब कुछ ठीक है । अभी सुबह तक जेडीयू नेता उपेंद्र कुशवाहा (JDU leader Upendra Kushwaha) ने बिहार एनडीए (NDA) में सबकुछ ठीक होने का दावा किया था, लेकिन इसके बाद सियासी समीकरण तेजी से बदले । कांग्रेस और वामपंथी पार्टियों ने नीतीश कुमार के समर्थन का पत्र महागठबंधन के नेता तेजस्वी यादव को सौंप भी दिया है।

पढ़ें :- सीमांचल में अमित शाह का आज दूसरा दिन, लोकसभा चुनाव 2024 को लेकर बन रही अहम रणनीति

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...