बिहार टॉपर्स घोटाले के आरोपी की संदिग्ध परिस्थिति में मौत, पुलिस पर लगा हत्या का आरोप

Bihar Topper Scam Accused Diwakar Prasad Found Dead Under Mysterious Circumstances

पटना। बिहार के बहुचर्चित टॉपर घोटाले में एक और आरोपी दिवाकर सिंह की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। जहां मृतक के परिजन पुलिस पर छत से धक्का देकर उसकी हत्या करने का आरोप लगा रहे हैं वही पुलिस इसे आत्महत्या बता रही है। मृतक के बेटे विक्रम सिंह (विक्की) ने छह पुलिसकर्मियों के खिलाफ पटना के बहादुरपुर थाने में हत्या की एक प्राथमिकी दर्ज कराई है।




स्मृति पेपर मिल के मालिक 58 वर्षीय दिवाकर प्रसाद सिंह के बेटे विक्रम सिंह का आरोप है कि बुधवार रात करीब आधा दर्जन पुलिसकर्मी उनके पंचवटी कॉलोनी स्थित आवास पर पहुंचे। पांच पुलिसकर्मियों ने उन्हें घेर लिया और दिवाकर प्रसाद के बारे में पूछा। इसके बाद देवकांत वर्मा नाम के एक पुलिसकर्मी व तीन अन्य पुलिसकर्मी सीढ़ी चढ़कर ऊपर चले गए। थोड़ी देर बाद ऊपर से चीखने-चिल्लाने की आवाजें आने लगीं।




विक्रम के अनुसार उसने देखा कि पिता के साथ पुलिस वाले हाथापाई कर रहे थे। विक्रम ने बताया कि इस दौरान दो पुलिसकर्मी उन्हें खींचकर नीचे ले गए। थोड़ी देर बाद पिता की आवाजें आनी बंद हो गई। इस बीच पुलिसवाले सीढ़ी से उतरकर चले गए और पिता के बारे में कोई जवाब नहीं दिया। पुलिस के जाने के बाद वे घर के पिछवाड़े में नीचे गिरे मिले। आनन-फानन में उन्हें पटना के एक अस्पताल ले जाया गया, जहां उनकी मौत हो गई।

पटना। बिहार के बहुचर्चित टॉपर घोटाले में एक और आरोपी दिवाकर सिंह की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। जहां मृतक के परिजन पुलिस पर छत से धक्का देकर उसकी हत्या करने का आरोप लगा रहे हैं वही पुलिस इसे आत्महत्या बता रही है। मृतक के बेटे विक्रम सिंह (विक्की) ने छह पुलिसकर्मियों के खिलाफ पटना के बहादुरपुर थाने में हत्या की एक प्राथमिकी दर्ज कराई है। स्मृति पेपर मिल के मालिक 58 वर्षीय दिवाकर प्रसाद सिंह के बेटे विक्रम…