1. हिन्दी समाचार
  2. बिहारी 500 का टिकट लेकर दिल्ली आते हैं 5 लाख का फ्री इलाज कराने-केजरीवाल

बिहारी 500 का टिकट लेकर दिल्ली आते हैं 5 लाख का फ्री इलाज कराने-केजरीवाल

Bihari Comes To Delhi With 500 Tickets To Get 5 Lakh Free Treatment Kejriwal

नई दिल्ली। दिल्ली के सीएम अरविन्द केजरीवाल अक्सर अपने विवादित बयानो को लेकर सुर्खियों में रहते हैं। एक बार फिर उन्होने बिहारियों पर एक विवादित बयान देते हुए कहा कि बिहारी 500 रुपये का टिकट लेकर दिल्ली आते हैं और 5 लाख का फ्री इलाज कराते हैं। उनके इस बयान के बाद बीजेपी और जेडीयू ने काफी नाराजगी जाहिर की है। बता दें कि हाल ही में उन्होने एनआरसी को लेकर दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी पर कमेंट करते हुए कहा था कि अगर दिल्ली में एनआरसी लागू हुआ तो मनोज तिवारी वापस जायेंगे।

पढ़ें :- न्यू-जेन मर्सिडीज-बेंज एस-क्लास की कुछ मुख्य विशेषताएं

अरविन्द केजरीवाल लगातार ‘दिल्ली बनाम बाहरी’ पर कमेन्ट करते रहते हैं, अभी तक तो उनके ज्यादातर बयान विशेष लोगों पर होते थे लेकिन इस बार उन्होने पूरे बिहारियों पर कमेंट कर दिया। उनका कहना है कि दिल्ली में पूरा इलाज फ्री है, ऐसे में बिहार वाले दिल्ली आकर फ्री इलाज करवाकर चले जाते हैं। उनके बयान के बाद राजनीतिक पार्टियों ने उन्हे घेरना शुरू कर दिया है। हालांकि केजरीवाल ने इस दौरान यह भी कहा कि सब लोग आते हैं तो खुशी होती है लेकिन दिल्ली की एक सीमित क्षमता है।

पढ़ें :- WTC Final : साउथैम्पटन में टीम इंडिया पहली पारी में 217 पर ऑल आउट, जैमिसन ने झटके पांच विकेट

दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी ने अरविन्द केजरीवाल पर हमला करते हुए कहा कि बाहरी लोग जब दिल्ली आते है तो केजरीवाल का कलेजा क्यों फटने लगता है ? उनका कहना है कि लगातार अरविन्द केजरीवाल का यूपी बिहारियों के लिए घृणा का भाव दिखाई दिया है। मनोज तिवारी ने कहा कि 5 लाख तक फ्री इलाज की आयुष्मान योजना मोदी सरकार द्वारा लागू की गयी तो फिर अरविंद केजरीवाल को क्या दिक्कत है। अपने देश के ही लोगों से अरविन्द केजरीवाल कितना भेदभाव करते हैं।

वहीं जेडीयू के वरिष्ठ नेता केसी त्यागी ने केजरीवाल के बयान को शर्मसार बताते हुए कहा कि केजरीवाल यूपी ,बिहार वालों की वजह से ही चुनाव जीते हैं, दिल्ली सबकी है सिर्फ आम आदमी पार्टी की नही है। उन्होने यह भी कहा कि केजरीवाल बाल ठाकरे बनने की कोशिश न करे तो ज्यादा अच्छा होगा। उन्होने कहा कि हो सकता है दिल्ली में सरकारी अस्पताल कम हो लेकिन इस तरह बयान देना बहुत ही निंदनीय है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
X