छात्रा से छेड़छाड़ में हुआ खूनी संघर्ष, चार की मौत, दर्जनभर घायल

बिजनौर। छात्राओं से छेड़छाड़ को लेकर ग्राम पेदा में खूनी संघर्ष हो गया। इस खूनी संघर्ष में चार लोगों की मौत हो गयी, जबकि दर्जन भर लोग घायल हो गये। मामला अलग-अलग सम्प्रदाय का होने के कारण तनाव फैल गया। पुलिस व पीएसी बल तैनात करने के साथ ही अधिकारियों ने गांव में डेरा डाल दिया। घटना से नाराज मृतक पक्ष ने हाईवे पर जाम लगाकर प्रदर्शन किया। डीआईजी ने प्रदर्शनकारियों को समझाकर जाम खुलवाते हुए दो पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया। दोपहर बाद गृह सचिव व एडीजी ( कानून व्यवस्था ) दलजीत सिंह चैधरी ने घटना स्थल का मौका मुआयना कर मृतकों के परिजनों से घटना के संबन्ध में ब्यान दर्ज किए।

जानकारी के अनुसार थाना कोतवाली शहर क्षेत्र के ग्राम पेदा में छात्राओं से छेड़छाड़ करने को लेकर दो पक्षों में मारपीट हो गयी। मामला अलग-अलग सम्प्रदाय का होने के कारण यह विवाद खूनी संघर्ष में बदल गया। आरोप है कि गांव के ही संसार सिंह, तेजपाल, ग्राम प्रधान दिलावर, तिलकराज व राजू आदि ने नया गांव के ग्रामीणों के साथ मिलकर दूसरे पक्ष पर फायरिंग शुरू कर दी। गोली लगने से गांव के ही अहसान 32 वर्ष पुत्र हसन की मौके पर ही मौत हो गयी, जबकि उसके बड़े भाई अनीस 55 वर्ष जिला अस्पताल में दम तोड़ दिया। इसके अलावा इसके भतीजे सरफराज 22 वर्ष पुत्र जुल्फकार व रिजवान पुत्र शराफत ने उपचार के लिए मेरठ जाते समय रास्ते में दम तोड़ दिया।

इनके अलावा अंसार, गुलफाम, सलाउददीन व फरीद आदि सहित लगभग दर्जनभर लोग गंभीर रूप से घायल हो गये। घायलों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। घटना से नाराज मृतक पक्ष के लोगों ने अहसान के शव को सड़क पर रखकर जाम लगा दिया। इन्होंने झगड़े के दौरान मौके पर पहुंचे एक दरोगा व सिपाही पर कई आरोप लगाये। मौके पर पहुंचे डीआईजी गुलाब सिंह ने नाराज लोगों को समझाते हुए जाम खुलवाया और आरोपी दोनों पुलिसकर्मियों को सस्पैंड कर दिया। पुलिस ने आरोपी पक्ष के पाले, दीपक व नरेन्द्र को भी हिरासत में ले लिया। डीएम जगतराज त्रिपाठी व एसपी उमेश कुमार श्रीवास्तव आला अधिकारियों के साथ मौके पर डटे रहे। वहीं सदर विधायक कुंवरानी रूचिवीरा घटना का पता चलते ही मौके पर पहुंच गई।

घटना से तनाव को देखते हुए गांव में भारी पुलिस व पीएसी बल तैनात किया गया है। उधर मृतक पक्ष के कुछ लोगों ने जजी चैराहे पर भी जाम लगाकर प्रदर्शन किया। दोपहर बाद पहुंचे गृह सचिव देबाशीश पांडा व एडीजी ( कानून व्यवस्था ) दलजीत सिंह चैधरी ने घटना स्थल का मौका मुआयना कर मृतकों के परिजनों से घटना के संबन्ध में ब्यान दर्ज किए। एडीजी दलजीत सिंह चैधरी ने बिजनौर पुलिस को दोषियों पर कार्रवाही करने के लिए सख्त निर्देश दिये है।

बिजनौर से शहजाद अंसारी की रिपोर्ट