कार्य बहिष्कार कर युवा अधिवक्ताओं ने किया प्रदर्शन

बिजनौर। पेदा कांड में दो अधिवक्ताओं व एक ग्राम प्रधान का नाम डालने का मामला लगातार तूल पकड़ता जा रहा है। इन तीनों को निर्दोष बताते हुए युवा अधिवक्ताओं ने कार्य बहिष्कार किया। साथ ही उग्र आंदोलन की चेतावनी दी। जिला युवा बार एसोसिएशन एवं जिला प्रगतिशील युवा बार एसो. की संयुक्त बैठक गुरूवार को जिला जजी परिसर स्थित बार हाल में हुई। बैठक में वक्ताओं ने कहा कि जिला प्रशासन पेदा कांड में राजनीतिक दबाव के चलते निर्दोषों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर उन्हें जेल भेज रही है।



सत्ताधारियों के इशारे पर ही पुलिस ने निर्दोष अधिवक्ता प्रफुल्ल चैधरी व ऐश्वर्य चैधरी उर्फ मौसम के अलावा ग्राम प्रधान दिलावर सिंह के खिलाफ झूठा मुकदमा दर्ज किया है। जिसे किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। पुलिस की कार्यशैली पर रोष जताते हुए युवा अधिवक्ताओं ने कार्य बहिष्कार कर पुलिस प्रशासन के खिलाफ प्रदर्शन किया।

अधिवक्ताओं ने चेतावनी दी कि अगर प्रशासन ने निर्दोष अधिवक्ताओं व प्रधान का नाम इस मुकदमे से बाहर नहीं निकाला तो वे उग्र आंदोलन करेंगे। बैठक व प्रदर्शन करने वालों में अनुज चैधरी, सौरभ चैधरी, निपेन्द्र देशवाल, विवेक चैधरी, विनीत कुमार, अतुल कुमार, गौरव अग्रवाल, आशीष, प्रमोद शर्मा, फहीम अहमद, जावेद सईद, पुष्पेन्द्र ढाका, प्रदीप कुमार, देशराज, राजीव राठी, अश्वनी, गुलशेर आलम, रामगोपाल व सचिन आदि शामिल रहे।

बिजनौर से शहजाद अंसारी की रिपोर्ट