आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों ने अपने लिए सरकारी कर्मचारी का दर्जा मांगा

Bijnor News 187

बिजनौर। आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों ने टाउन हाल परिसर में आंगनबाड़ी कार्यकत्री एवं सहायिका कर्मचारी एसोसिएशन के बैनर तले धरना दिया। उन्होंने आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को सरकारी कर्मचारी का दर्जा देने की मांग की। धरने को संबोधित करते हुए जिलाध्यक्ष शारदा चैधरी ने न्यूनतम वेतन 18 हजार मासिक करने, आंगनबाड़ी कर्मचारियों को राज्य कर्मचारी का दर्जा देने, प्राथमिक विद्यालय की भांति ग्रीष्मकालीन, शीतकालीन व अन्य अवकाश घोषित करने, मुख्य सेविका के पदों पर शत-प्रतिशत प्रमोशन देने, नाम बदलकर ग्राम बाल विकास अधिकारी करने, हौसला पोषण योजना में ग्राम प्रधान का संयुक्त खाता बंद कर लाभार्थी के खाते में सीधे धनराशि भेजने की मांग की।

जिला संरक्षक दुर्गा ङ्क्षसह एवं अर्जुन ङ्क्षसह ने कहा कि मांगों के समर्थन में एकजुट होकर प्रदर्शन में भागीदारी करें। बैठक में आदेशबाला, मीना राजपूत, माया, दुर्वेश, माया, सूर्या, मीनाक्षी, शोभा शर्मा, शकुंतला शारदा चैधरी, मंजू चैधरी, सुशीला त्यागी, शीला देवी, कमलेश यादव, शबनम खान, पूनम, भारती, मीना देवी, सुनीता व गजाला परवीन आदि शामिल रहीं।

बिजनौर से शहजाद अंसारी की रिपोर्ट




बिजनौर। आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों ने टाउन हाल परिसर में आंगनबाड़ी कार्यकत्री एवं सहायिका कर्मचारी एसोसिएशन के बैनर तले धरना दिया। उन्होंने आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को सरकारी कर्मचारी का दर्जा देने की मांग की। धरने को संबोधित करते हुए जिलाध्यक्ष शारदा चैधरी ने न्यूनतम वेतन 18 हजार मासिक करने, आंगनबाड़ी कर्मचारियों को राज्य कर्मचारी का दर्जा देने, प्राथमिक विद्यालय की भांति ग्रीष्मकालीन, शीतकालीन व अन्य अवकाश घोषित करने, मुख्य सेविका के पदों पर शत-प्रतिशत प्रमोशन देने, नाम बदलकर ग्राम बाल विकास अधिकारी करने,…