पेदा गोली कांड की होगी निष्पक्ष जांच, एसपी ने सहयोग की अपील की

बिजनौर। पेदा कांड की निष्पक्ष जांच होगी। जिन आरोपियों के खिलाफ साक्ष्य मिलेंगे उन्हें किसी भी कीमत पर बख्शा नहीं जायेगा और जो जांच में निर्दोष पाये जायेंगे उनके खिलाफ कोई कार्रवाही नहीं होगी। यह बात नवागत एसपी अजय साहनी ने रविवार दोपहर पुलिस लाइन सभागार में प्रेस वार्ता करते हुए कही। उन्होंने कहा कि जिले की शांति व्यवस्था बनाये रखने में मीडिया व जनता का काफी सहयोग रहा है आगे भी पुलिस को सहयोग की अपेक्षा रहेगी। शरारती तत्वों पर नकेल कसने के लिये सभी थानों को निर्देश दिये जायेंगे कि अपने क्षेत्रों से 20-20 शरारती तत्वों को चिन्हित किया जाये।




इन शरारती तत्वों पर सर्विलांस व एलआईयू के माध्यम से नजर रखी जायेगी। पिछले पांच सालों से सक्रिय अपराधियों को भी चिन्हित कर कार्रवाही की जायेगी। डा. बागेश के अस्पताल पर पथराव करने के मामले में एसपी ने कहा कि वह नामजद आरोपियों को जल्द ही गिरफ्तार करायेंगे। दुष्कर्म के आरोपी मौलाना अनवारूल हक के मामले में अनभिज्ञता जताते हुए एसपी ने कहा कि वह रात डेढ़ बजे ही बिजनौर आये हैं। साक्ष्यों के आधार पर मौलाना अनवारूल हक के खिलाफ कार्यवाही की जायेगी। लापरवाह व भ्रष्ट पुलिसकर्मियों को किसी भी कीमत पर बख्शा नहीं जायेगा। ऐसे पुलिस अधिकारियों को चार्ज पर नहीं रहने दिया जायेगा। साथ ही रिपोस्टिंग पाने वाले पुलिस अधिकारियों व कर्मचारियों के बारे में जानकारी जुटाई जायेगी कि उन्हें किन परिस्थितियों में रिपोस्टिंग दी गयी है।

अपने बारे में जानकारी देते हुए एसपी अजय साहनी ने बताया कि बैच 2009 के आईपीएस हैं। सीतापुर पीएसी में वह मात्र छह दिन रहे हैं। इससे पहले वह मुरादाबाद, आजमगढ़, सिद्धार्थनगर, कानपुर व बुलंदशहर आदि जनपदों में तैनात रह चुके हैं। उन्होंने बताया कि आजमगढ़ में तैनाती के दौरान डीजीपी ने उन्हें सम्मानित किया था। वहीं तीन बार 50 हजार रुपये का इनाम भी उन्हें डीजीपी से मिल चुका है। प्रेस वार्ता में एएसपी सिटी कैप्टन एमएम बेग, एएसपी डा. धर्मवीर सिंह व सीओ सिटी असित श्रीवास्तव आदि मौजूद रहे।

बिजनौर से शहजाद अंसारी की रिपोर्ट