बिना किसी दवाब के निष्पक्ष काम करना पहली प्राथमिकता होगी: एसपी

बिजनौर। पुलिस अधीक्षक अजय कुमार साहनी ने कहा कि बिना किसी दवाब के निष्पक्ष काम करना उनकी पहली प्राथमिकता होगी। क्राइम कंट्रोल के मामले में वह जीरो टोलरेंस पाॅलिसी अपनाते है। उन्होने जनपद के समस्त थानाध्यक्षो को हिदायत दी है कि थाने आने वाले हर फरियादी के साथ निष्ठा व सभ्यता के साथ व्यवहार किया जाये। यदि किसी पुलिसकर्मी की शिकायत उन तक पहुंचती है तो उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई अमल में लायी जायेगी।




रविवार की दोपहर पुलिस लाईन के सभागार में प्रेस वार्ता में रूबरू होते हुए सीतापुर से आकर जनपद बिजनौर का चार्ज लेने के बाद पुलिस अधीक्षक अजय कुमार साहनी ने कहा कि वह मूल रूप से उत्तर प्रदेश के गोरखपुर के निवासी है तथा वह 2009 बैच के आईपीएस अधिकारी है। उन्होने कहा कि वह अपने कार्यकाल के दौरान मुरादाबाद, कानपुर, मुजफ्फरनगर, बुलन्दशहर, आजमगढ, सिद्वार्थनगर आदि जनपदों में काम कर चुके है, फिलहाल बिजनौर से पूर्व वह सीतापुर में पीएसी में तैनात थे, जहां उन्होने अपनी डयूटी पूरी बेबाकी से की। उनकी इसी मेहनत को देखते हुए शासन ने उन्हें 23 सितंबर को पुलिस अधीक्षक बिजनौर बनाकर भेजा।

पुलिस अधीक्षक अजय कुमार साहनी ने कहा की लूट, रोड होल्डअप, चोरी, राहजनी, जैसे संगीन अपराधो को रोकने के लिए पुलिस पेट्रोलिंग बढा दी गयी है जनपद भर मे सट्टा गोकशी व स्कूल जाने वाली छात्राओ के साथ छेडछाड जैसी होने वाली वारदातो को गंभीरता से लेते हुए उन्होेने कहा कि इस तरह की घटनाओ पर अंकुश लगाने के लिए दोषियो के खिलाफ कार्रवाई के लिए थानाध्यक्षो को सख्ती से हिदायत दे दी गयी है। जनपद भर में सटटा, गौकशी, कच्ची शराब बेचने व बनाने वालो को चिन्हित कर दोषी पाये जाने पर शीघ्र इन्हे सलाखो के पीछे भेजा जायेगा।




पुलिस अधीक्षक अजय कुमार साहनी ने दो टूक कहा कि अपराधी या तो अपराध छोडकर सामान्य जीवन व्यतीत कर लेे या जनपद छोडकर कहीं दूर चला जाये नही तो ऐसे लोग चाहे कितने भी प्रभावशाली लोगो से पंहुच क्यों ना रखते हो किसी भी कीमत पर न बख्शते हुए उन्हे सीधा सलाखों के पीछे डाल दिया जायेगा। उन्होने कहा कि वह पहले से ही पत्रकारों का सम्मान करते थे और आगे भी करते रहेंगे। उन्होने जनपद के सभी पत्रकारों से अपराध कम कराने में सहयोग की अपील की है।

बिजनौर से शहजाद अंसारी की रिपोर्ट