विदुर कुटी पहुंचकर केंद्रीय पर्यटन मंत्रालय के प्रतिनिधि ने किया सर्वे

बिजनौर। विदुर कुटी को पर्यटन स्थल के रूप में विकसित किया जाना है। इसके लिए केंद्रीय पर्यटन मंत्रालय के प्रतिनिधि ने विदुर कुटी पर पहुंचकर सर्वे किया। विदुर कुटी के अलावा मुजफ्फरनगर के शुक्रताल एवं मेरठ के हस्तिनापुर को भी पर्यटन स्थल के रूप में विकसित किए जाने की योजना है।

बीते दिन केंद्रीय पर्यटन मंत्रालय के प्रतिनिधि कुणाल रावल विदुर कुटी का सर्वे करने पहुंचे। उन्होंने बताया कि महात्मा विदुर के मंदिर के सामने बड़ा चबूतरा सर्वे में प्रस्तावित है। इसकी ऊंचाई काफी होगी। इसके अलावा सौर ऊर्जा लाइटें, तीर्थ यात्रियों के बैठने के लिए बैंच, कैफेटेरिया, बोर्ड एवं दुकानों का निर्माण भी सर्वे में शामिल किया गया है। पुराने घाट यानि छड़ी मेला स्थल पर सफाई एवं कुंड का निर्माण, शौचालय का निर्माण, सौर ऊर्जा लाइट्स, बड़ा छायादार शेड तथा महिलाओं के लिए चेंङ्क्षजग रूम आदि की व्यवस्था की जानी है। विदुर कुटी के क्षतिग्रस्त मार्ग का निर्माण भी प्रस्तावित है।




साथ ही विदुर मंदिर के सामने पुश्ते का निर्माण होगा, ताकि गंगा में अधिक पानी आने पर निर्माण को कोई नुकसान न हो। सांसद भारतेंद्र ङ्क्षसह ने बताया कि उन्होंने पर्यटन मंत्री महेश शर्मा से मिलकर बिजनौर लोकसभा क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले विदुर कुटी, शुक्रताल एवं हस्तिनापुर पर चर्चा की थी। इसके बाद ही तीनों पर्यटन स्थलों का सर्वे शुरू हुआ है। उन्होंने बताया कि जल्द ही तीनों स्थानों पर सौंदर्यीकरण का काम शुरू हो जाएगा। सर्वे के दौरान सांसद के अलावा संजय त्यागी, जितेंद्र राजपूत, दीपक गर्ग मोनू, पामेंद्र ङ्क्षसह, ललित कुमार, दीक्षांत अग्रवाल, दुष्यंत ङ्क्षसह, राजीव राजपूत, कल्याण प्रधान, गौरव जोशी, रवि दिवाकर, मनोज कुमार, अमर ङ्क्षसह राठौड़, नरेंद्र पहलवान आदि शामिल रहे।

बिजनौर से शहजाद अंसारी की रिपोर्ट