पुलिस का भाजपा नेता के यहां चोरी का माल खरीदने की खबर पर छापा





बिजनौर/नहटौर। मौहल्ला पंचायती मन्दिर में अपने आपको भाजपा का नेता बताने वाले सर्राफा व्यापारी के यहां चोरी का माल खरीदने के मामले में चण्डीगढ़ की पुलिस ने उसके मकान पर पहुंचकर आकस्मिक छापा मारी। छापे की भनक लगते ही उक्त युवक अपनी दुकान व मकान छोड़कर फरार हो गया। साथ ही पुलिस द्वारा उक्त युवक ने परिजनों से चोरी के मामले में पूछताछ करने पर परिजन संतोषजनक उत्तर नहीं दे पाये। पुलिस को देर रात तक काफी मशक्कत करने के बाद चंडीगढ़ पुलिस मोटा फीलगुड कर रात्रि में ही वापस हो गई।

जानकारी के थाना नहटौर के मौहल्ला पंचायती मन्दिर स्थित छोटी गली में सुनील चौधरी उर्फ लाला की सोने चांदी जेवरात बेचने की दुकान है। बताया जाता है कि शनिवार को दोपहर करीब एक बजे चण्डीगढ़ पुलिस के क्राइम ब्रांच के इंस्पेक्टर अमन ज्योत, इंस्पेक्टर कृष्ण कुमार, एसआई मोहन सिंह ने अपनी टीम के साथ सर्राफा व्यापारी सुनील चौधरी की दुकान पर छापामारी की। छापेमारी की भनक लगते ही व्यापारी दुकान छोड़कर फरार हो गया। अचानक नगर में पुलिस को आता देख भीड़ एकत्र हो गई। इंस्पेक्टर अमन ने बताया कि उन्होने दो चौन स्नेचरों को हिरासत में ले रखा है जो कि रहने वाले दिल्ली के हैं और उन्होने चण्डीगढ़ क्षेत्र में 33 सोने की चौन महिलाओं से छीनी हैं।

उन्होने बताया कि चोरों ने वह चौन मौहल्ला पंचायती मन्दिर नहटौर निवासी सुनील चौधरी की दुकान पर 6 लाख 75 हजार रूपये कीबेची थी। जबकि उन चौन का वजन 50 तोले और कीमत लगभग 12 से 13 लाख रूपये होगी। पुलिस टीम ने सुनील चौधरी की दुकान पर पहुंचने पर उससे पूर्व उसे पुलिस के आने की भनक लगने पर दुकान व मकान छोड़कर मौके से फरार हो गया था। पुलिस अधिकारों ने उसके परिजनों से मामले की जानकारी लेने पर तथा उनके द्वारा संतोषजनक उत्तर न देने पर काफी देर रात तक मशक्कत पुलिस को इस मामले में करनी पड़ी। बताया जाता है कि इस मामले में कुछ लोगों ने पुलिस पर दबाव बनाने के लिये अपने आपको भारतीय जनता पार्टी का नेता बताकर फीलगुड कराने के लिये पुलिस पर दबाव बनाना शुरू कर दिया था।

बताया जाता है देर रात नेताओं व पुलिस अधिकारियों के बीच हुई वार्ता का पता न चलने के कारण यह मामला नगर में चर्चा का विषय बना हुआ है तथा युवक को बिना साथ लिये पुलिस बैरंग लौट गई। थाना प्रभारी अता मौहम्मद का कहना है कि यह मामला उनके संज्ञान में नहीं है साथ ही न किसी बाहर की पुलिस ने कोतवाली पर अपनी आने की सूचना दर्ज कराई।

बिजनौर से शहजाद अंसारी की रिपोर्ट



Loading...