आरोपी के घर पर शरारती तत्वों द्वारा पथराव की अफवाह से एसपी नाराज





बिजनौर। पुलिस प्रशासन के प्रयास व सख्ती के चलते भले ही ग्राम पेदा में शांति व्याप्त हो, लेकिन अभी भी कुछ शरारती तत्व ऐसे हैं जो घिनौनी करतूते कर वहां की फिजा बिगाडने का प्रयास कर रहे हैं। रविवार की रात्रि भी कुछ ऐसा ही देखने को मिला। शरारती तत्वों द्वारा जेल में बंद एक आरोपी के घर पर पथराव किया गया। इसकी सूचना पुलिस को दी गई। सूचना मिलते ही शहर कोतवाल मौके पर पहुंचे और उन्होंने घटना स्थल का निरीक्षण कर घर में मौजूद महिलाओं से मामले की जानकारी ली।

जानकारी के अनुसार थाना कोतवाली शहर के ग्राम पेदा में छेड़छाड़ को लेकर हुए विवाद ने एक बड़ा रूप धारण कर लिया था। इस विवाद में तीन लोगों को जान गवानी पड़ी थी। इस घटना से चर्चाओं का बाजार गर्म था तथा जनपद में तनाव व्याप्त हो गया था। कुछ शरारती तत्वों ने इस घटना को बड़ा रूप देने का प्रयास किया था, लेकिन अधिकारियों की कड़ी मेहनत व सख्ती के चलते वे अपने नापाक मनसूबों में कामयाब नहीं हो सके थे। सुरक्षा के मद्देनजर गांव में बड़ी संख्या में पुलिस बल की भी तैनाती की गई थी। पुलिस द्वारा इस मामले में नामजद आरोपियों को जेल भेज दिया गया और गांव में शांति व्याप्त होने के दावे किए जा रहे हैं, लेकिन कुछ शरारती तत्व ऐसे हैं जो इस आग को शांत नहीं होने देना चाहते हैं।

इसके लिए वे तरह-तरह के हथकंडे अपना रहे है, हालांकि ये बात और है कि पुलिस उन्हेें उनके मनसूबों को कामयाब नहीं होने दे रही है। इसके बाद भी वह अपनी करतूतों से बाज नहीं आ रहे हैं। रविवार की रात्रि भी पेदा में कुछ ऐसा ही हुआ। शरारती तत्वों ने जेल में बंद टीकम सिंह के घर पर पथराव किया। जिससे घर में मौजूद महिलायें सहम गईं। मामले की जानकारी पुलिस को दी गई। सूचना मिलते ही शहर कोतवाल ऋषिराम कठेरिया पुलिस कर्मियों के साथ मौके पर पहुंचे और घटना स्थल का निरीक्षण किया। कोतवाल ने घर में मौजूद महिलाओं से मामले की जानकारी ली और महिलाओं को सुरक्षा का अश्वासन दिया। जबकि इस संबन्ध में पुलिस अधीक्षक अजय साहनी का कहना है कि ऐसी कोई घटना नहीं हुई है। शरारती इस तरह की अफवाह फैलाकर शहर का माहौल खराब करना चाहते है जिसे किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नही किया जायेगा।

बिजनौर से शहजाद अंसारी की रिपोर्ट