औद्योगिक जगहों पर पडे खाली प्लाॅटो को इच्छुक लाभार्थियों को आवंटित करें: डीएम





बिजनौर। जिलाधिकारी जगतराज ने महा प्रबन्धक उद्योग केन्द्र को निर्देश दिये कि बिजनौर-किरतपुर मार्ग पर पुलिस पिकेट की व्यवस्था कराना सुनिश्चित करें ताकि मार्ग पर असुरक्षा की भावना उत्पन्न न होने पाए। इसी के साथ उन्होंने यह भी निर्देश दिये कि किरतपुर में नवनिर्मित डिवाईडर के मार्ग में विद्युत ट्रांसफार्मर और सात खम्बों को हटाने के लिए भी आवश्यक कार्यवाही अमल में लायें। उन्होने निर्देश दिये कि जिले के जिन औद्योगिक आस्थानों में प्लाट खाली पड़े हुए हैं, उन्हें 15 दिन के भीतर इच्छुक पात्र लाभार्थियों को नियमानुसार आवंटित करना सुनिश्चित करें ताकि उन आस्थानों में उद्योग स्थापित हो सकें। इसी के साथ उन्होने यह भी निर्देश दिये कि महा प्रबंधक एकल खिड़की योजना के सफल संचालन के लिए शासन द्वारा बनायी गयी व्यवस्था को गुणवत्तापूर्वक क्रियान्वयन करने का अपना दायित्व निभायें।

जिलाधिकारी राज अपरान्ह 3 बजे कलैक्ट्रेट सभागार में आयोजित उद्योग बन्धु बैठक की अध्यक्षता करते हुए निर्देश दे रहे थे। उन्होने कहा कि बिजनौर का वातावरण औद्योगिक विकास के लिए बहुत ही अनुकूल है और यहां पर कानून एवं शांति व्यवस्था भी सुदृढ़ होने के बावजूद औ़द्योगिक विकास का न होना हैरतांगेज है। उन्होनें महा प्रबंधक जिला उद्योग केन्द्र को निर्देश दिये कि केन्द्र एवं प्रदेश सरकार द्वारा औ़द्योगिक विकास के लिए संचालित योजनाओं का प्रचार प्रसार करायें और इसके विकास के लिए केन्द्र द्वारा संचालित मुद्रा योजना से स्थानीय लोगों को भलिभांति लाभान्वित करने के लिए आगरा से प्रशिक्षण प्रदाता संस्था को आमंत्रित कर एक कार्याशाला का आयोजन करायें और इस कार्याशाला में स्थानीय बैंकर्स एवं उ़द्य़ोग एवं व्यापार बन्धुआंे की प्रतिभाग कराना सुनिश्चित करें।

बैठक के दौरान औद्योगिक आस्थान नगीना का भूखण्ड जो कि हैण्डलूम संचालन के लिए श्री खुर्शीद अहमद को आवंटित किया गया था, ने श्रीमती शबानाा खातून पत्नी शाहनवाज़ अहमद के पक्ष में बिस्कुट उद्योग की स्थापना के लिए हस्तानान्तरित किये जाने का अनुरोध किया है, इसी प्रकार औद्योगिक आस्थान बिजनौर में श्री शैलेन्द्र खन्ना पुत्र श्री शिव कुमार खन्ना के नाम आवंटित भूखण्ड को श्री श्री अचल अग्रवाल पुत्र श्री सुरेन्द्र अग्रवाल को मय शपथ पत्र सहित बैट्री ई रिक्शा उत्पादन का कार्य करने के लिए हस्तानान्तरित करने का अनुरोध किया गया है। उक्त सम्बन्ध में जिलाधिकारी द्वारा महा प्रबन्धक उद्योग केन्द्र को निर्देश दिये गये कि नियमानुसार हस्तानान्तरण की कार्यवाही अमल में लायी जाए। इस अवसर पर महा प्रबंधक उद्योग केन्द्र श्रीमती अंकिता वर्मा, विद्युत, आबकारी, अग्नि सुरक्षा सहित अन्य संबंधित अधिकारी और उद्योग एवं व्यापार बन्धु मौजूद थे।

बिजनौर से शहजाद अंसारी की रिपोर्ट