स्वास्थ्य मिशन में करोड़ों के घोटालेबाज व तेजाब कांड का आरोपी गिरफ्तार

बिजनौर। तेजाब कांड व राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन में करोड़ों का घोटाला करने के आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। शुक्रवार दोपहर पुलिस अधीक्षक अजय कुमार साहनी ने पुलिस लाइन सभागार में प्रेस वार्ता करते हुए बताया कि धामपुर पुलिस ने गुरूवार रात करीब साढ़े आठ बजे आरएसएम तिराहे के पास से ग्राम सुहागपुर निवासी अर्जुन पुत्र गंभीर को गिरफ्तार किया है। अर्जुन ने 16 अक्टूबर को गांव की रेनू पुत्री बनारसी दास के चेहरे पर घर में घुसकर तेजाब फेंका था। उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज था, लेकिन वह फरार चल रहा था। उसे गिरफ्तार करने में धामपुर कोतवाल मुनीश चंद शर्मा, एसआई रामवीर शर्मा, कांस्टेबिल राकेश, वीर बहादुर, सोनू व दीपक आदि शामिल रहे।



उधर थाना कोतवाली शहर पुलिस ने शुक्रवार दोपहर 12.30 बजे रोडवेज बस स्टैण्ड से इटावा के मौहल्ला विजयनगर निवासी पंकज कुमार सिंह पुत्र नाथू राम सिंह व देवरिया के साकेत नगर निवासी कैलाश ठाकुर पुत्र स्व. सुखदेव ठाकुर को गिरफ्तार किया है। एसपी ने बताया कि मथुरा में तैनात पंकज कुमार मई 16 से अगस्त 16 तक एनएचएम में एकाउंट मैनेजर के पद पर बिजनौर में कार्यरत रहा था, जबकि कैलाश ठाकुर भी राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन में बिजनौर में वरिष्ठ लिपिक के पद पर कार्यरत है।

इन दोनों के खिलाफ राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के अंतर्गत आने वाले बजट में से कर्मचारियों का वेतन प्रशिक्षण कार्यक्रम व दवाईयों में खर्च में घोटाला करते हुए फर्जी पीएफएमएस एडवाइज तैयार कर तीन करोड़ 10 लाख 95 हजार 769 रुपये का गबन करने की रिपोर्ट दर्ज थी। इन्होंने इस गबन में जिला कार्यक्रम प्रबंधक भानू प्रकाश हिमकर, जिला लेखा प्रबंधक ब्रजमोहन, जिला डाटा प्रबंधक सुरेन्द्र सिंह व डाटा आप्रेटर शहबाज के साथ मिलकर इस घोटाले को अंजाम दिया। पुलिस पूछताछ में इन्होंने अपना जुर्म स्वीकार कर लिया। इन दोनों को गिरफ्तार करने में शहर कोतवाल ऋषिराम कठेरिया व एसआई राजीव कुमार ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

बिजनौर से शहजाद अंसारी की रिपोर्ट

Loading...