सैकडो ग्रामीण बाघिन के आतंक से खौफजदा, अधिकारी मौन

बिजनौर/नगीना। नगीना तहसील के कस्बा बढ़ापुर क्षेत्र के वन विभाग की चौकी विजय सिंह पुर रेंज के जंगल से सटे ग्राम चिलकिया, खोबड़ा, भूमिदान, बगनला, कालोली कादर गंज आदि दर्जनों गांवों के ग्रामीण बाघिन के आंतक से भयभीत हैं। बाघिन रोजाना शाम होते ही गांवों के आसपास यह बाघिन चक्कर काटती देखी जा सकती है। इस बाघिन ने ग्रामों से कई बकरी तथा उनके बच्चे चटकर लिये हैं। उधर इस क्षेत्र में रहने वाले वन गुज्जरों की कई भैंसों के बच्चे भी उठाकर खा लिये हैं।



ग्रामवासियों का कहना है कि वन अधिकारियों को घूम रही इस बाघिन की जानकारी कई बार दी जा चुकी है किंतु वन विभाग पूरी तरह सोया हुआ है। क्षेत्र के भूमिदान निवासी बलराम सिंह को भी उक्त बाघिन अपना निवाला बना चुकी है। पिछले वर्ष बलराम की मौत भूमिदान से वन विभाग की सीमा पर बाघिन द्वारा हुई थी। उसके परिवार के लोग उसकी मौत के मुआवजे के लिये एक वर्ष से चक्कर काटते काटते थक चुके हैं किंतु आज तक उसकी मौत का मुआवजा नहीं मिला है। अब बलराम के बड़े बेटे लवकुश ने तथा बलराम की पत्नी ने कहा कि अगर मेरे पिता की मौत का मुआवजा नहीं मिला तो हम आत्महत्या करने को मजबूर होंगे।

बिजनौर से शहजाद अंसारी की रिपोर्ट