उच्च न्यायालय ने निर्वाचक नामावलियों को शुद्व रूप से बनाने के दिये निर्देश

बिजनौर। प्रभारी जिलाधिकारी सुरेन्द्र राम ने जानकारी देते हुए बताया कि मा0 उच्चतम न्यायाल तथा मा0 उच्च न्यायालय के निर्देशों के क्रम में विधान परिषद अर्थात एमएलसी स्नातक की मतदाना सूची निरस्त कर दी गयी हैं और नये सिरे से फोटोयुक्त एमएलसी स्नातक निर्वाचक नामावलियों को शुद्व रूप से बनाने के निर्देश भारत निर्वाचन आयोग दिये गये हैं।




प्रभारी जिलाधिकारी सुरेन्द्र राम ने जानकारी देते हुए बताया कि एमएलसी स्नातक क्षेत्र के मतदान के लिए सभी पुराने और नये स्नातक पास व्यक्तियों को एक फोटो के साथ पुनः फार्म-18 भर कर जमा करना होगा तभी नयी एमएलसी स्नातक मतदाता सूची में उनका नाम शामिल हो सकेगा। उन्होंने भारत निर्वाचन आयोग के हवाले से बताया कि आयोग के स्पष्ट निर्देश हैं कि 01 अक्तूबर, 16 से संचालित इस महत्वपूर्ण अभियान को 05 नवम्बर,16 तक निश्चित रूप से पूरा कर लिया जाए और क्षेत्र में कोई भी स्नातक महिला/पुरूष निर्वाचक नामावलियों में अपना नाम शामिल कराने से वंचित न रहने पाये।

उन्होंने यह भी बताया कि स्नातक मतदाता सूचीबद्वता का कार्य फोटोयुक्त निर्वाचक नामावलियों विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण कार्यक्रम के अंतर्गत विशेष अभियान के साथ ही संचालित है और पात्र व्यक्ति अपने मतदान केन्द्रों पर उपलब्ध बीएलओ से सम्पर्क कर फार्म-18 भर कर अपना नाम निर्वाचक नामावली में सम्मिलित करा सकते हैं। प्रभारी जिलाधिकारी सुरेन्द्र राम ने यह भी बताया कि जिला बिजनौर के लगभग 36 हजार एमएलसी स्नातक क्षेत्र के मतदाताओं की सूची को निरस्त कर नये सिरे से फोटोयुक्त निर्वाचक नामावलियों को तैयार किया जा रहा है।

इसके अलावा 01 नवम्बर 2013 तक स्नातक हो चुके महिला एवं पुरूषों को भी नई मतदाता सूची में शामिल किया जाएगा, जिस के लिए उन्हें भी ऑनलाइन अथवा आफलाईन फार्म-18 भर कर एक फोटो के साथ जमा करना अनिवार्य है। उन्होंने सभी संबधित अधिकारियों को निर्देश दिये हैं कि इस महत्वपूर्ण कार्य को निर्धारित अर्थात 05 नवम्बर,16 तक पूरा करना सुनिश्चित करें और प्रति दिन कार्य की प्रगति रिपोर्ट जिला निर्वाचन कार्यालय बिजनौर को उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें।

बिजनौर से शहजाद अंसारी की रिपोर्ट