भोपाल पुलिस मुढभेड में मारे गए आतंकी बिजनौर को बना चुके पनाहगाह

बिजनौर। सोमवार की तडके भोपाल सेंट्रल जेल से बन्दिरक्षक की हत्या के बाद फरार पुलिस मुढभेड में मारे गए आठ आतंकियो में से दो आतंकी महबूब व अमजद बिजनौर को भी दो वर्ष पूर्व किसी दिल दहला देनी वाली घटना को अंजाम देने की नीयत से अपनी पनाहगाह बना चुके है।



मालूम हो कि जनपद बिजनौर के मौहल्ला जाटान निवासी वृद्वा नीलो देवी के मकान में भोपाल में मारे गए आतंकियों में से महबूब व अमजद अपने चार और साथी जाकिर बदरूल, ऐजाजुद्दीन, असलम अय्यूब, अबू फैजल के साथ किराए पर रहते थे। 12 सितम्बर 2014 को अचानक इस मकान में जोरदार धमाका हुआ जिसके बाद यह छह के छह आतंकी फरार हो गए थे। हालाकि इस विस्फोट में किसी को भी कोई नुकसान नही पहुंचा था बल्कि एक आंतकी खुद विस्फोट की चपेट में आकर बुरी तरह झूलस गया था। पुलिस द्वारा विस्फोट वाले कमरे में जब तलाशी ली गई तो, कमरे से बारूद, बमनुमा सलेंडर, कई एमएम के पिस्टल, भारी मात्रा में माचिस के पाकेट, धार्मिक किताब एक लैपटाप, महाराष्ट पूणें के पते की आईडी दस्तावंेज, शर्टो पर कर्नाटक की किसी कम्पनी के स्टीकर लगे हुऐ बरामद हुए थे।

हथियारों का जखीरा देखकर पूरे पुलिस महकमे में हडकम्प मच गया ओर देर आईजी जोन बरेली, आईजी एटीएस, डीआईजी मुरादाबाद आदि ने घटना स्थल का दौरा कर आवश्यक दिशा निर्देश दिए थे। जिस मकान में बम विसफोट हुआ उस मकान स्वामी लीलो देवी की बार बार पुलिस पूछातछ से डरने के बाद हार्टअटेक से मौत हो गई थी। जांच में खुलासा हुआ कि 01 अक्टूबर 2013 को मध्य प्रदेश की खंडवा जेल तोडकर यह खुखार आतंकी भागे थे। इन सभी आतंकवादियों पर मध्य प्रदेश पुलिस द्वारा एक – एक लाख का ईनाम घेषित था। पुलिस अधिकारियों ने आतंकवादियों के नाम महबूब, अमजद रमजान, जाकिर बदरूल, ऐजाजुद्दीन, असलम अय्यूब, अबू फैजल होने की पृष्टि की थी। जांच में पाया गया कि पडोस के तीनो लोगो ने बम विस्फोट करने वाले आतंकवादियों को फर्जी पते पर सिम कार्ड व डाटा कार्ड उपलब्ध कराऐ थे तथा थाना कोतवाली देहात के ग्राम उमरी निवासी एक महिला भी इन खुखार आतंकियो की मददगार रही है।




जिस सम्बन्ध में पुलिस ने सभी आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर जेल भेज दिया था। इन सभी आतंकियों को बिजनौर पुलिस द्वारा भगौडा घोषित किया जा चुका है। जबकि कुछ आंतकी इनमें से तेलंगाना में भी पुलिस मुढभेड में मारे जा चुके है। उधर पुलिस अधिक्षक अजय कुमार साहनी ने हमारे संववादाता शहजाद अंसारी को ंजानकारी देते हुए बताया कि भोपाल में पुलिस मुढभेड में मारे गए आतंकियों में से दो आतंकी महबूब व अमजद हमारे जनपद से भगौडा घोषित है, हमने संबन्धित दस्तावेजो का मुआयना कर लिया है, यदि भोपाल पुलिस कभी भी इस संबन्ध में सम्पर्क करती है तो हमारी ओर से उन्हे पूरा सहयोग दिया जायेगा।

बिजनौर से शहजाद अंसारी की रिपोर्ट