पीएनबी नगीना अन्य बैंको के खातेधारको को भी दे रहा विशेष सुविधाऐ

बिजनौर/नगीना। आम आदमी तथा खासकर किसानों की मुश्किलें थमने का नाम नहीं ले रही हैं। बैंकों पर लंबी लंबी लाइनें जहां लगी देखी गयीं वहीं सहकारी बैंकों ने पुराना 1000 रुपये तथा 500 रुपये का नोट लेना बंद किया। बाकयदा रिजर्व बैंक ने सभी सहकारी बैंकों को लैटर जारी कर पुराने नोट जमा न करने के आदेशों के बाद सभी सहकारी बैंकों ने पुराने तथा नये नोटों से मना किया तथा एक्सचेंज करने से भी मना किया है। किसानों का आरोप है कि रिजर्व बैंक ने सहकारी बैंकों पर क्यों पाबंदी लगायी है यह समझ से परे है।




जबकि आम जनता का साफ कहना है कि पीएनबी नगीना के शाखा प्रबंधक हरीशचन्द्रा की विशेष व्यवस्था से सिर्फ बैंको में पंजाब नेशनल बैंक मात्र एक ऐसा बैंक है जो हजारो की भीड होने के बावजूद ग्राहकों को सुविधा देने के लिए भ्रसक प्रयास कर रहा है, इतना ही नही नगर के अन्य बैंको का भी बोझ पंजाब नैशनल बैंक नगीना उठा रहा है। उधर स्टेट बैंक एटीएम पर भारी भीड़ उमड़ी है लोग लंबी लंबी लाइनों में बड़े बूढ़े शाम तक हलकान हो गये। खासकर महिलाओं को सबसे ज्यादा परेशानी उठानी पड़ रही है। बूढ़ी बुजुर्ग महिलायें जहां लाइनों में बैठकर अपनी बारी का इंतेजार करती देखी गयीं। सबसे अधिक परेशानी स्टेट बैंक में देखने को मिली। स्टेट बैंक मैनेजर मनोज अग्रवाल ने सारे नियम कानून ताक पर रखकर अपने चहेते मालदारों को सौ सौ के नोट दे रहे है और गरीब मजदूरों को 10 का पांच का सिक्का थमाकर चलता कर रहे है।

बिजनौर से शहजाद अंसारी की रिपोर्ट