सर्राफा व्यापारियों में सेलटैक्स टीम की छापामारी से हड़कम्प

बिजनौर/नहटौर। सेलटैक्स की टीम द्वारा छापामारी करने की अफवाह से नगर में सर्राफा व्यापारियों में हड़कम्प मच गया और वह आनन पफानन में अपनी दुकानें बन्द कर भूमिगत हो गये। सर्रापफा मार्केट बन्द होते देख अन्य थोक व्यापारी भी दुकाने बन्द कर चंपत हो गये।




देश के प्रधानमंत्राी नरेन्द्र मोदी द्वारा एक हजार व पांच सौ के नोटों को चलन से बाहर करने के बाद तरह तरह की अपफवाहें पफैल रही है। तीन दिन पूर्व गुरूवार को सेलटैक्स टीम द्वारा नगर में छापामारी करने की अपफवाह ने दुकानदारों के पसीने छुड़ा दिये थे और कुछ ही समय के अन्दर पूरा बाजार बन्द हो गया था लेकिन अपफवाह कोरी बकवास निकली। इसके बाद दो दिन पूर्व शुक्रवार की सांय पता नहीं कहां से नमक महंगा होने और आसानी से न मिलने की अपफवाह से रातों रात दुकानों से नमक ऐसा गायब हो गया जैसे गधे के सिर से सींग।

नमक देने में जहां कुछ दुकानदारों ने इंसानियत का सबूत दिया और लोगों को रेट टू रेट नमक बेचा वहीं अधिकांश काला बाजारी करने वाले दुकानदारों ने मनमापिफक रेट वसूल कर लोगों की जेबे खाली कराने का काम किया। गत शनिवार को सुबह से ही एक ओर अपफवाह ने लोगों के कान खडे कर दिये कि आटा 500 रूपये धड़ी व चीनी 200 रूपये किलो बिकेगी लेकिन लोगों ने इस पर पहले जानकारी लेना मुनासिब समझा और आटा और चीनी ब्लैक होने से बच गये।




आज रविवार को एक बार पिफर सेलटैक्स टीम द्वारा नगर में छापामारी करने की सूचना से सर्रापफ व्यापारियों को ठण्ड में पसीने छूटने लगे और वह चन्द मिनटो में ही दुकानें बन्द कर भूमिगत हो गये। सर्रापफा व्यापारी पफोन पर सेलटैक्स टीम की लोकेशन लेते देखे गये लेकिन टीम नहीं आई जिसके बाद उनकी सांसो में सांस आई। इधर कुछ बडे दुकानदार भी सेलटैक्स टीम की सूचना पर अपनी दुकानें बन्द कर नौ दो ग्यारह हो गये।

बिजनौर से शहजाद अंसारी की रिपोर्ट