CMO के दम पर खुलेआम लूट कर रहे हैं सरकारी डॉक्टर

बिजनौर: बिजनौर के स्वास्थ्य विभाग के मंत्री और अफसर चाहे अपने विभाग को सुधारने के लिए कितने ही जतन क्यों न कर ले लेकिन उनके इस जतन को पलीता लगा रहे है जिले बिजनोर के बड़े सरकारी डॉक्टर । यूपी के सीएम जनता के इलाज के लिए भले ही हर साल भारी भरकम बजट खर्च करे लेकिन बिजनौर जिले के कई सरकारी डॉक्टर प्राइवेट प्रैक्टिस करके रोजाना मरीजो से फीस वसूल रहे है। ये सब कुछ हो रहा है जिला बिजनोर के सीएमओ के दम पर।




सीएमओ ने अपने जिले भर के सभी सरकारी डॉक्टरों को खुले आम लूट करने की इजाजत दे रखी है। ऐसे ही एक सरकारी डॉक्टर जोकी नगीना सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के प्रभारी है हमारे कैमरे में कैद हुए है जो अपने आवास पर रोजाना सैकड़ो मरीजो का इलाज करते है। ये डॉक्टर बाकायदा मरीजो से 50 से 100 रुपये फीस वसूलता है। इस डॉक्टर के बारे में जब जिले के डीएम साहब से बताया गया तो जिला अधिकारी ने मामले में जांच एसडीएम नगीना को सौप दी है। साथ ही मीडिया को जल्द कारवाही का भरोसा भी दिया गया है ।

मीडिया के कैमरे में कैद तस्वीर से पता चलता है की मरीजो का इलाज कर रहा ये सरकारी डॉक्टर नगीना के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का प्रभारी डॉक्टर नवीन चौहान । इन जनाब का काम तो है इलाके के मरीजो की फ्री सेवा करना । लेकिन जनाब ये तो खुद अपने सरकारी आवास पर मरीजो का इलाज करते है वो भी 100 रुपये की फीस लेकर अपनी सेवा कर रहे है । ये डॉक्टर अपने आवास पर रोजाना प्राइवेट प्रैक्टिस करते है और 50 से ज्यादा मरीजो को देखते है । हर मरीज से 100 रुपये की फीस लेते है । सुबह 8 बजे से 11 बजे तक अपने सरकारी आवास पर मरीजो को देखते है । जबकि जनाब सरकार के नियमो की जमकर धज्जिया उड़ा रहे है। इतना ही नही ये डॉक्टर स्वास्थ्य केंद्र में सुबह 11 बजे के बाद बैठता है ।




वही कुछ और मरीजो का तो यहा तक भी कहना है कि ये डॉक्टर सभी मरीजो से अवैध वसूली करता है। कई बार इस डॉक्टर की सीएमओ से शिकायत भी की जा चुकी है ,लेकिन राजनैतिक पहुँच के चलते इस डॉक्टर के खिलाफ कोई भी अफसर ठोस कारवाही नही कर पा रहा है । ये डॉक्टर इलाके के सपा विधायक मनोज पारस के दम पर गरीब जनता का खून चूस रहा है। सरकार के आदेश के नियमो की धज्जिया उड़ाने वाले इस डॉक्टर से जब इस बाबत पूछा गया तो जनाब का साफ तौर पर कहना है क़ि जब कोई मरीज उनके आवास पर आ जाता है तो मैं उनका इलाज कर देता हूँ । इतना ही नही जनाब कैमरे पर खुद कबूल कर रहे है क़ि जब मरीज रुपये देता है तो मैं रुपये ले लेता हूँ । जबकि इन जनाब को ये पता है क़ि सरकारी कोई भी डॉक्टर प्राइवेट प्रैक्टिस नही कर सकता है, लेकिन ये जनाब तो प्राइवेट तरीके से मरीजो को खूब देख रहे है साथ ही साथ उनसे अवैध वसूली भी कर रहे है ।

उधर मरीजो से अवैध वसूली कर रहे सरकारी डॉक्टर नवीन कुमार के बारे में जिले के सबसे बड़े अधिकारी को बताया गया तो डीएम बिजनौर जगत राज त्रिपाठी साहब ने डॉक्टर की गोपनीय जांच कराने की बात कही है डीएम साहब ने कारवाही करने का भी भरोसा दिया है ।

बिजनौर से शहजाद अंसारी की रिपोर्ट