जनता बैंक बंद और एटीएम मशीने खाली होने से परेशान, सुनने वाला कोई नही

बिजनौर। दो दिन से बैंक बंद हैं और शहर की लगभग सभी एटीएम मशीने भी खाली हो चुकी हैं। रूपए निकालने के लिए लोग दर-दर की ठोकरें खाने को मजबूर हैं। लोगों को समझ में नहीं आ रहा कि वे कहां जाए और क्या करें। शनिवार को अवकाश होने के कारण बैंक बंद थे, जबकि रविवार को साप्ताहिक बंदी के कारण बैंकों में ताले लटके रहे।




बैंकों का दो दिन का अवकाश आम आदमी के लिए परेशानी भरा रहा। दो दिन से सभी बैंक शाखाएं बंद हैं। बैंक बंद होने के कारण लोगों को रूपए के लिए केवल एटीएम पर ही आश्रित हैं, लेकिन अधिकांश एटीएम मशीने शनिवार शाम होते-होते जवाब दे गई, जबकि शेष बची हुई एटीएम मशीनें भी रविवार सुबह से ही खाली होनी शुरू हो गई।

रविवार को सुबह से ही आम आदमी रूपए पाने के लिए इधर-उधर एटीएम पर चक्कर लगाते नजर आए। दरअसल बैंकों में कैश को लेकर मारामारी के हालात हैं। कैश कम होने के कारण बैंकों से ग्राहकों को दो-दो हजार रुपए ही दिए जा रहे हैं। दैनिक जरूरतों को पूरा करने के लिए जरूरत पडने वाली रकम के लिए लोगों को बैंकों की लंबी लाइनों में कई-कई बार लगना पड़ रहा है। बैंकों का दो दिन अवकाश होने के कारण लोगों की भीड़ शनिवार सुबह से ही एटीएम मशीनों पर जमा थी। इसी का नतीजा निकला कि पहले ही दिन अधिकांश एटीएम मशीने खाली हो गई।



रविवार को भी साप्ताहिक अवकाश होने के कारण एटीएम मशीनों में कैश नहीं भरा गया। एटीएम मशीनों का कैश खत्म होने के कारण लोग एक से दूसरे स्थान पर भटकते दिखे। लोगों को प्रतीक्षा है तो सोमवार होने की, ताकि वे बैंक की लंबी लाइन में लगकर रूपए निकाल सके।

बिजनौर से शहजाद अंसारी की रिपोर्ट

Loading...