पीएनबी में फर्जी ढंग से नोट बदलने पर कैशियर निलम्बित, जांच शुरु

बिजनौर/धामपुर। कालागढ़ मार्ग स्थित पंजाब नेशनल बैंक मंडी शाखा में नोटों के बदलने का एक ओर मामला प्रकाश में आया है। आरोपी निलम्बित कैशियर नरेश कुमार ने छोटे नोटों को जमा न करके उनके स्थान पर बड़े नोट जमा किये। बैंक प्रबन्धक ने 8 नवम्बर से 24 नवम्बर तक के सभी वाउचरों को सील करके जांच बैठा दी है।




बर्तन व्यापारी अशोक कुमार अग्रवाल ने बैंक प्रबन्धक से शिकायत करते हुए कहा कि उन्होंने 23 नम्वबर को अपनी फर्म छोटेलाल अशोक कुमार के खाते में 100, 50, 20 व 10 के एक लाख दो हजार पांच सौ रुपये जमा किये थे। उन्होंने कहा कि बैंक से मोबाइल पर 50-52500 हजार रुपये के दो मैसिज आये। मैसिज देखकर उनको कुछ शंका हुई तो वह बैंक में गये। उन्होंने कहा कि बैंक में हमने एक वाउचर पर एक लाख दो हजार पांच सौ रुपये जमा किये थे। लेकिन कैशियर नरेश कुमार ने उनके खाते में 50-52500 हजार के दो वाउचरों से 500 व 1000 के नोटों की रकम जमा की।




बैंक कर्मचारियों के इस नोट बदलने के खेल से पता चलता है कि कैशियर नरेश कुमार ने बड़े नोटों के बदले छोटे नोटों में तबदील करके किस प्रकार जनता के रुपयों से खिलवाड़ किया है तथा बड़े नोट को छोटे नोटों में देकर अच्छा खासा पैसा अपने पास जमा किया है। उधर बैंक प्रबन्धक दिनेश कुमार आर्य ने बताया कि 8 नवम्बर से 24 नवम्बर तक के सभी वाउचरों को सील कर दिया गया है तथा सभी की जांच जारी कर दी गई है। उन्होंने बताया कि हेराफेरी के सभी मामलों तक पहुंचने का प्रयास किया जायेगा।

बिजनौर से शहजाद अंसारी की रिपोर्ट

Loading...