बेटा जिंदगी और मौत के बीच लड़ता रहा, माँ रुपयों के लिए बैंक की लाइन में लगी रही

बिजनौर/कोतवाली देहात। बीमार बेटे की माँ को बैंक से रूपये ने मिलने पर बेटे की बीती रात मौत हो गयी। इस घटना से गांव में शौक की लहर दौड़ गयी है। जानकारी के अनुसार थाना कोतवाली देहात क्षेत्र के ग्राम करोंदा पचदु निवासी हज्जन शहीदन के बेटे फुरकान 40 वर्षीय पुत्र रफीक हाजी की काफी समय से बीमार था। हज्जन शहीदन ने अपने बेटे का एक निजी अस्पताल में भर्ती करा कर पीएनबी बैंक से रूपये निकाल कर इलाज कर रही थी।




गुरुवार की रात से शहीदन के बेटे की तबियत ज्यादा खराब हो गयी शुक्रवार की सुबह से लाईन में लगी रही और 12 बजे शहीदन का रूपये लेने का नंबर आ गया। मृतक की माँ ने पीएनबी के प्रबंधक से 6 हजार रूपये निकालने के लिए लाख कोशिश की लेकिन मेनेजर ने मात्र दो हजार रूपये ही देने की बात कही। रूपये ने मिलने पर एक माँ अपने बेटे का इलाज ने कर सकी।




और बीती रात्रि शहीदन के बेटे की मौत हो गयी। सुबह होने पर मौत की खबर सुनकर गांव में शौक की लहर दौड़ गई है। मृतक अपने पीछे 6 बेटी और 2 बेटो को रोता-बिलखता छोड़ गया है।

बिजनौर से शहजाद अंसारी की रिपोर्ट

Loading...