राशन डीलर के चयन को लेकर हंगामा, दूसरे पक्ष ने लगाया जाम

बिजनौर/नहटौर। ग्राम बैरमाबाद गढ़ी में राशन डीलर के चयन के लिये आयोजित खुली बैठक में एक पक्ष ने उस समय हंगामा शुरू कर दिया जब चयन समिति ने उसके प्रतिद्वंदी को वोटों की गिनती के आधार पर विजयी घोषित कर दिया। पराजित प्रत्याशी के समर्थकों ने चयन समिति के सदस्यों के साथ धक्का मुक्की व मारपीट की तथा हमसाज होकर चयन करने का आरोप लगाते हुए उन्हें बन्धक बना लिया तथा नहटौर हल्दौर मार्ग पर जाम लगा दिया। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर उन्हें बन्धनमुक्त कराते हुए जाम खुलवाया।



जानकारी के अनुसार पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के तहत सोमवार को अपराहन् 3 बजे एडीओ कोर्पेटिव देवेन्द्र चैहान, सचिव अमरजीत सिंह, एकेश्वर कुमार, विवेक कुमार व प्रेम सिंह आदि की टीम ग्राम बैरमाबाद गढ़ी के पंचायत घर पहुंची। टीम के पहुंचने पर वहां राशन डीलर के लिये गांव की ही सुधा रानी पत्नी हरिराज, सर्वत खां पत्नि साजिद खां ने अपनी उम्मीदवारी जताई। चयन समिति ने दोनो पक्षों के मौजूद सैकड़ों समर्थकों को अपने अपने प्रत्याशी के पाले में बैठने को कहा जिस पर दोनो प्रत्याशियों के समर्थक अलग अलग कतारों में बंट गये। गये। टीम ने उनकी गिनती शुरू की जिसमें सर्वत खां को 469 व सुधा रानी को 428 लोगों का समर्थन मिला जिस पर 41 की संख्या से सर्वत खां को राशन डीलर घोषित कर दिया गया। इस पर सुधा रानी के समर्थकों ने यह कहते हुए कि टीम सर्वत खां से हमसाज है और उसने उनके समर्थकों की एक लाइन की गिनती ही नहीं की गुस्साये समर्थकों ने हंगामा शुरू कर दिया जब टीम बुलेरो में बैठकर वापस लौटने लगी तो उन्होने उनकी बुलेरो घेर ली और उन्हें उसमें ही बन्धक बना लिया तथा नहटौर हल्दौर मार्ग पर जाम लगा दिया।




सूचना पर नहटौर पुलिस मौके पर पहुंची और उन्होने हंगामा कर रहे लोगों से वार्ता की। गुस्साये लोगों ने इस शर्त पर कि यह चुनाव गलत हुआ है इसे रद्द किया जाये और आगामी तिथि तय कर निष्पक्ष चुनाव कराया जाये। पुलिस ने इस सम्बन्ध में एसडीएम धामपुर से वार्ता की। एसडीएम ने चुनाव रद्द कर पुनरू कराने का आश्वासन दिया। जिसके बाद लोगों ने टीम को बन्धन मुक्त करते हुए जाम खोल दिया। इधर सर्वत खां समर्थकों का कहना है कि टीम ने निष्पक्ष चुनाव किया था लेकिन विरोधी पक्ष के लोगों ने हार स्वीकार न करते हुए हंगामा शुरू कर दिया। उन्होने टीम द्वारा कराये गये निष्पक्ष चुनाव को वैध करार देने की उप जिलाधिकारी से मांग की है। इधर एडीओ कोर्पेटिव देवेन्द्र चैहान ने बताया कि एसडीएम के आदेश पर चुनाव रद्द कर दिया गया है।

बिजनौर से शहजाद अंसारी की रिपोर्ट