तीन दिन की छुटटी खत्म हाने के बाद कोहरे में ठिठुरते हुए स्कूल गए बच्चे

बिजनौर। तीन दिन बाद स्कूल खुले, तो कोहरे के बीच बच्चे ठिठुरते हुए स्कूल पहुंचे। हालांकि कोहरा ज्यादा समय तक नहीं रहा, लेकिन ठंड काफी रही। सर्दी का मौसम शुरू होने के बाद से ही कोहरे रंग दिखा रहा है। कोहरे के कारण ठंड भी बढ़ गई है। और लोग तक तो ठीक है, लेकिन इस कोहरे और ठंड की मार सबसे ज्यादा स्कूली बच्चों पर पड़ रही है। शनिवार को सैकंड सटर डे , रविवार को साप्ताहिक बंदी व सोमवार को ईदुल मिलाद का अवकाश होने के कारण सभी स्कूल लगातार तीन दिनों तक बंद थे।




इस दौरान स्कूली बच्चों ने काफी राहत की सांस ली, लेकिन मंगलवार को जब स्कूल खुले, तो उन्हे फिर से कोहरे व ठंड से दो-चार होना पड़ा। रात में कोहरा होने के बाद तड़के कुछ कम हुआ, लेकिन साढ़े सात बजे के बाद फिर से कोहरा बढना शुरू हो गया। यह कोहरा करीब नौ बजे तक अपने पूरे सबाब पर रहा। यही वह समय होता है, जब अधिकांश स्कूलों के खुलने का समय होता है, इस कारण बच्चों को ठंड में ही स्कूल जाना पड़ा।




कोहरे के कारण उन्हे न सिर्फ ठंड का सामना करना पड़ा, बल्कि कोहरे के कारण उनकी यूनिफार्म भी भीग गई। आसपास के देहात क्षेत्र से पढने के लिए शहर आने वाले स्कूली बच्चों के लिए यह कोहरा और अधिक मुश्किल भरा रहा। उधर कोहरे के कारण वाहनों की लाइटे दिन में भी जली रही, वहीं ये वाहन सड़कों पर रेंगते दिखाई दिए।

बिजनौर से शहजाद अंसारी की रिपोर्ट