भ्रष्टाचार को मिटाने में देश के हर नागरिक से सहयोग करने की अपील

बिजनौर। विमुद्रीकरण का देश एवं समाज पर प्रभाव्य के विषय पर कृष्णा कालेज बिजनौर के बीएड, बीटीसी विभाग में गोष्ठी आयोजित की गई। वक्ताओं ने कहा कि विमुद्रीकरण का निर्णय भविष्य में होने वाले परिवर्तन का सूचक है। यदि हम इस परिवर्तन को सकारात्मक रूप से लेंगे और देश का हर नागरिक भ्रष्टाचार को मिटाने में अपना सहयोग देगा, तो निश्चित रूप से देश मजबूत होगा। यदि जवाबदेही विधेयक 2013 से संसद में लम्बित न होता, तो आज जिस प्रकार से बैंक अधिकारियों की काले धन को सफेद करने में भ्रष्ट तरीका अपनाने जो भूमिका रही है और जिससे देश में पैसे को लेकर बैंकों के सामने जो अव्यवस्था फैली है, वह न फैलती।




सरकार द्वारा उठाया गया यह एक बहुत अच्छा कदम है, जिससे आगे चलकर आय में वृद्धि हो सकती है। यदि बैंक सरकार का साथ देते तो इस कदम की आलोचना करने के लिए स्वार्थी लोगों को अवसर नहीं मिलता। काले धन एवं भ्रष्टाचार पर लगाम, आतंकवाद पर नियन्त्रण, नकली नोटों के कारोबार को पराजित करना, कैशलेस अर्थव्यवस्था की तरफ बढने से देश को आगे चलकर लाभ मिलेगा। परेशानियों के बावजूद छात्र-छात्राओं की एक बड़ी संख्या सरकार के इस कदम के पक्ष में खड़ी नजर आई।




छात्रा चारु राजपूत के संचालन में हुई गोष्ठी में कालेज संस्थापक राजीव कुमार, प्रबन्धक मनोज कुमार, प्रबन्ध समिति के सदस्य पवन कुमार, प्रशासनिक निदेशक डा. जेपी अग्रवाल, प्राचार्या साइंस कॉलेज डा. सीमा शर्मा, प्रोफेसर एमएस अंसारी, प्रवक्ता मुदित गुप्ता, बीएड विभागाध्यक्ष लखपत ङ्क्षसह, बीटीसी विभागाध्यक्ष कृष्ण कुमार, छात्र आकांक्षा, गम्भीर, पीयूष, विवेक कुमार, राशि राजपूत, नितिन कुमार, शामिया, सन्दीप, शुभम व निर्मला आदि मौजूद रहे।

बिजनौर से शहजाद अंसारी की रिपोर्ट

Loading...