मिलों की हठधर्मिता रोकने के लिए अखिल भारतीय किसान सभा ने की मांग

बिजनौर/चांदपुर। मार्क्सवादी कम्न्यूनिस्ट पार्टी की अखिल भारतीय किसान सभा ने मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेजकर किसानों की हो रही दुर्दशा को रोकने व पेराई सत्र में मिलों द्वारा किसानों पर हठधर्मिता रोकने की मांग की है। उपजिलाधिकारी आजाद भगत सिंह के माध्यम से भेजे ज्ञापन में कहा कि प्रदेश का मेहनत किसान तबाही के कगार पर खड़ा है। उसकी फसलों का वाजिब दाम नहीं मिल रहा है। नोटबंदी से किसान तबाही से फंस गया है। मिल मालिकों की स्वार्थसिद्दी ने किसान को तबाह कर दिया है। प्रदेश व राष्ट्रीय स्तर पर किसान कर्जदार हो गया है।




सामान्य गन्ने की पर्ची नहीं होने गेहूं की बुआई नहीं हो रही है। उन्होंने पूरे जिले की मिलों से सामान्य पर्ची जारी करने, क्रय केन्द्रों पर घटतौली बंद करने, नोटबंदी से खाद बीज नहीं मिलने, फसलों का समर्थन मूल्य घोषित करने, चांदपुर हस्तिनापुर मार्ग पर पुल शीघ्र बनवाने, फसल बीमा योजना की अनिवार्यता खत्म करने, सहकारी बैंकों की जमाबंदी बहाना कराने की मांग की है। ज्ञापन देने वालों में कामरेड ऋषिपाल सिंह प्रधान जी, कुलदीप गुप्ता, छोटे सिंह, जोगेन्द्र सिंह कौसर, अनवार आदिल, अमर सिंह, परवीन सिंह, देवेन्द्र सिंह आदि उपस्थित थे।

बिजनौर से शहजाद अंसारी की रिपोर्ट

Loading...