बिजनौर में उड़ाया गया डायल 100 का मजाक

बिजनौर: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की महत्त्वाकांक्षी योजना डायल 100 का बिजनौर में मजाक उड़ाया गया। यहां उधार की 12 गाड़ी के सहारे उदघाटन किया गया। बताया जा रहा है कि जो गाड़ियां मंगाई गई थी सभल से आई थी। जबकि बिजनौर जनपद को 75 गाड़ियां मिलनी है। अभी तक एक भी गाड़ी बिजनौर को नही मिली। उदघाटन के दौरान यह सभी गाड़ियां वापस संभल को भेज दी गई हैं। मंत्री जी से इस बारे में पूछा गया तो जनाब अपनी ही दलील देते हुए सफ़ेद झूठ बोल गए है कि जिला बिजनौर में 30 गाड़ियां आ गयी हैं।




दरअसल साल 2017 में होने जा रहे विधानसभा चुनाव के मद्देनजर किसी भी वक्त प्रदेश में आचार संहिता लग सकती है, इसी को देखते हुए सोमवार को बिजनौर एसपी ने आनन फानन में डायल 100 सेवा का उदघाटन करा दिया। उदघाटन के दौरान एक भी गाड़ी अभी बिजनौर को नहीं मिली। तो संभल से 12 गाड़ियों का इंतजाम कर दिया गया।




जब मंत्री मूलचंद चौहान से पूछा गया कि बिजनौर जनपद को कितनी गाड़िया मिली है तो जनाब मीडिया के सामने सफ़ेद झूठ बोल गए। उनका कहना था कि बिजनौर जिले को 75 गाड़िया मिलेगी जबकि अभी तक 30 गाड़िया आई है। बाकी की गाड़िया 26 तारीख तक आ जाएगी। जबकि सच्चाई ये है कि बिजनौर जिले को अभी एक भी गाडी नही मिली है। जब सूबे का एक राज्य मंत्री सफ़ेद झूठ बोल रहा है वो भी कैमरे के सामने तो इस बात से जनता ये अंदाजा लगा सकती है कि सूबे के मुखिया अखिलेश यादव के ड्रीम प्रोजेक्ट की मजाक उन्ही की पार्टी का एक मंत्री उड़ा रहा है।

बिजनौर से शहजाद अंसारी की रिपोर्ट