एसडीएम व सीओ अपने-अपने क्षेत्रों में शांति समिति की बैठक करें: डीएम बिजनौर

बिजनौर। जिला निर्वाचन अधिकारी जगतराज ने सभी उप जिलाधिकारियों एवं पुलिस उपाधीक्षकों को निर्देश दिये कि अपने-अपने क्षेत्र में थानावार अमन कमेटियों की बैठक आयोजित करें और स्पष्ट रूप से बता दें कि जिला प्रशासन किसी भी अवस्था में अराजगता बर्दाशत नहीं करेगा और जो भी व्यक्ति चाहे वह कितना ही प्रभावी व्यक्तित्व का स्वामी हो कानून के शिकंजे से नहीं बच सकेगा। उन्होंने स्पष्ट रूप से कहा कि कानून एवं शांति व्यवस्था को जो भी चौलेंज करेगा अथवा उसे किसी भी रूप में प्रभावित करने का प्रयास करेगा, उसका स्थान केवल जेल होगा। उन्होनें सभी प्रशासनिक एवं पुलिस अधिकारियों को कड़े निर्देश दिये कि जिले में आयोग के निर्देशों के अनुपालन में आदर्श आचार संहिता लागू है और धारा-144 भी लगी हुयी है। अतरू पूरी सजगता और जागरूकता बरतें और किसी भी असामाजिक एवं अराजक तत्व को उनका उल्लंघन न करने दें।



जिलाधिकारी जगतराज आज शाम अपने कैम्प कार्यालय में आयोजित जिले में शांति एवं कानून व्यवस्थता को चुस्त-दुरूस्त रखने के उद्देश्य से पुलिस एवं प्रशासनिक अधिकारियों के साथ बैठक की अध्यक्षता करते हुए बोल रहे थे। उन्होनें कहा कि आगामी 11 मार्च,17 को मतगणना की जाएगी और भारत निर्वाचन आयोग द्वारा विजयी जलूस पर प्रतिबन्ध लगाया गया है। उन्होनें बताया कि मतगणना के बाद होली का त्यौहार मनाया जाएगा, जिसे शांतिपूर्वक और सौहार्दपूर्ण वातावरण में सम्पन्न कराने के लिए जिला प्रशासन कटिबद्व है।

उन्होनें कहा कि जिले में आदर्श आचार संहिता और धारा-144 लागू होने के कारण किसी स्थान पर पांच से अधिक व्यक्तियों का मौजूद होना अवैध घोषित किया गया है, इस लिए सभी लोग पूरी गरिमा के साथ त्यौहार का आनंद उठायें और अपने व्यवहार से किसी की भावनाओं को ठेस पहुंचाने का प्रयास न करें। उन्होनें कहा कि पूरे जिले में कानून एवं शांति व्यवस्था को सुदृढ़ और स्वस्थ रखने के लिए वरिष्ठ पुलिस और प्रशानिक अधिकारियों द्वारा पैट्रोलिंग की जाएगी तथा संवेदनशील नगरों एवं स्थानों पर पुलिस बल को तैनात किया जाएगा ताकि किसी भी स्थिति पर तत्काल नियंत्रण पाया जा सके।




इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक अजय कुमार साहनी ने बताया कि जिले के प्रत्येक स्थान विशेष कर धार्मिक एवं जातीय रूप से संवेदनशील नगरों व कस्बों में होली के अवसर पर निकलने वाले जलूसों की वीडियोग्राफी करायी जाएगी और अपराधिक एवं असामाजिक तत्वों पर कड़ी नजर रखी जाएगी। उन्होंने यह भी निर्देश दिये कि अधिकारीगण अपने पास नगर एवं ग्रामों के सम्भ्रांत व्यक्तियों के फोन नम्बर जरूर रखें और हिदायत करें कि कानून व्यवस्था को प्रभावित करने वाली मामूली घटना की सूचना भी उन्हें उपलब्ध करायें ताकि कोई भी मामूली घटना विकराल रूप धारण न कर सके।

बिजनौर से शहजाद अंसारी की रिपोर्ट