इस महिला बाइकर ने पुरुषों को दी टक्कर, राइडिंग करते पहुंची इंडिया गेट से लद्दाख

Biker In Measuring The Icy Heights Of The Mountains

नई दिल्ली। महिलाओं को अक्सर बाइकिंग ग्रुप से इस डर से निकाल दिया जाता है जिससे उनकी ट्रिप न खराब हो जाए। लेकिन इसबार नोएडा की बाइकर पल्लवी फौजदार ने हिम्मत न हार कर एडवेंचर मोटरसाइक्लिंग में रिकॉर्ड बना लिया है जिसे सुनकर सब हैरान हैं। आपको बता दें कि पल्लवी फौजदार को इस रिकॉर्ड के लिए इंटेरनेशनल वुमेन डे यानि 8 मार्च को राष्ट्रपति भवन में सम्मानित किया जाएगा।




देश के लिए ये गर्व की बात है कि आगरा की पल्लवी फौजदार 18774 फुट ऊंचाई तक मोटरबाइक ले जाने वाली देश की पहली महिला बन गयी हैं। इस कारनामे के लिए उनका नाम लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में भी दर्ज हो गया है।पल्लवी केवल बाइकर ही नहीं हैं वो फैशन डिजाइनर और समाजसेवी होने के साथ-साथ रेकी विशेषज्ञ भी हैं।
b
वैसे तो उन्हे आम जिंदगी में भी लंबी दूरी तय करने का शौक है। आपको बता दें कि वो आगरा के शिकंदरा के हरीश नगर में अपनी पति और दो बच्चों के साथ रहती हैं। बात करते हैं उनके सफर की तो पल्लवी 20 सितंबर 2015 को दिल्ली के इंडिया गेट से राइडिंग शुरू की वहाँ से बद्रीनाथ से आगे एक गाँव है जो कि देश का आखिरी गाँव है वहाँ तक का सफर उन्होने अकेले बाइक से तय किया और रिकॉर्ड बना लिया। गाँव से 55 किलोमीटर आगे पूरा कच्चा रास्ता था और पल्लवी ने यह दूरी छह घंटे में तय की है। लंबा सफर तय करने के बाद वो 27 सितंबर को वो दिल्ली वापस लौटी।



आपको बता दें कि वो इससे पहले भी दुनिया के सबसे ऊंचे लेह लद्दाख के काक संगला की पहाड़ियों पर पताका फहराने वाली आगरा की पल्लवी फौजदार ने एक और उपलब्धि अपने नाम की है। जुलाई 2015 में पल्लवी ने दिल्ली के इंडिया गेट से बुलेट बाइक से इंडिया लेख लद्दाख के सफर की शुरुआत की। लगभग चार हज़ार किलोमीटर का सफर उनहूने 18 दिन में पूरा किया था। रिकॉर्ड में दर्ज किये इन स्थानों लाचंगलुंग ला, तंगलांग ला, खार्दुंग ला, वारी ला, चांग्ला ला, मरसिमिक ला, सताथो ला, काकसंग ला तक गई थीं।

नई दिल्ली। महिलाओं को अक्सर बाइकिंग ग्रुप से इस डर से निकाल दिया जाता है जिससे उनकी ट्रिप न खराब हो जाए। लेकिन इसबार नोएडा की बाइकर पल्लवी फौजदार ने हिम्मत न हार कर एडवेंचर मोटरसाइक्लिंग में रिकॉर्ड बना लिया है जिसे सुनकर सब हैरान हैं। आपको बता दें कि पल्लवी फौजदार को इस रिकॉर्ड के लिए इंटेरनेशनल वुमेन डे यानि 8 मार्च को राष्ट्रपति भवन में सम्मानित किया जाएगा। देश के लिए ये गर्व की बात है कि आगरा…